अब नगर परिषद के जिम्मे हुआ शहर का वाटर सप्लाई

 

समस्तीपुर : शहर के सभी मोहल्लें में वाटर सप्लाई की व्यवस्था सुनिश्चित हो सके, इसके लिए अब इसकी जिम्मेवारी पीएचडी के बदले नगर परिषद के कंधे पर दी गयी है. इस महीने से यह व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी.

माना जा रहा है पीएचईडी के पास शहरी के साथ ही ग्रामीण जलापूर्ति की भी जिम्मेवारी होनेे से वह शहरी पेयजल व्यवस्था पर ठीक से ध्यान नहीं दे पा रही थी. इस कारण शहरी क्षेत्र में जलापूर्ति करने की व्यवस्था नप को सौंपी गई है. अब तक पीएचईडी बहादूरपुर व  पुरानी बस पड़ाव वासियों के लिए पेयजल की व्यवस्था कर रही थी.

a

नप को सौंपे जाने के बाद से विभागीय स्तर पर दोनों जलमिनारों की पहुंच क्षमता बढाने की रूप-रेखा तैयार की जा रही है. वहीं मई से सभी जर्जर पाइपों की मरम्मति व बदलना भी शुरू कर दिया जाएगा. बता दें कि 1979 मे लगाए जाने के बाद से सप्लाई पाइप को नहीं बदला गया था. शहर स्थित दो जलमिनारों से शहर की 30 फीसदी से भी कम आबादी को जल मुहैया हो पाती थी. बताया जाता है कि शहर के अधिकांश ऐसे वार्ड है जहां पानी की सप्लाई नहीं पहुंची है. वहां मुख्यमंत्री के हर घर नल का जल योजना के तहत पानी की सप्लाई पहुंचाई जाएगी.