भगत सिंह क्लब पटसा की ओर से दिवसीय भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन, दूर—दूर से पहुंचे लोग

समस्तीपुर/रोसड़ा(राजू गुप्ता): अनुमंडल क्षेत्र अंतर्गत हसनपुर प्रखंड के पटसा गांव में छठ पर्व के अवसर पर भगत सिंह क्लब पटसा के द्वारा दो दिवसीय भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. क्षेत्र के सुप्रसिद्ध इस सांस्कृतिक कार्यक्रम को देखने दूर-दूर से काफी संख्या में लोग जुटे हुए थे.

सहरसा और बेगूसराय से आये बिहार के प्रसिद्ध कलाकरों की शानदार प्रस्तुति को लेकर सारी रात लोग कुर्सी पर कार्यक्रम को देखने के लिए चिपके रहे. उद्घाटन समारोह में क्षेत्र के दर्जनों जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य लोग पधारे हुए थे.


कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन पंचायत के मुखिया बिन्दु देवी, पंचायत समिति सदस्या विभा देवी, रामनरेश मिश्र तथा विवेकानंद मिश्र के द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर संयुक्त रूप से किया गया. साथ ही क्लब के अध्यक्ष घनश्याम झा के द्वारा भगत सिंह के तस्वीर पर माल्यार्पण किया गया.

इस अवसर पर ग्राम के विशिष्ट नागरिकों तथा रंगमंच से जुड़े लोगों को चादर प्रदान कर सम्मानित भी किया गया. रामनरेश मिश्र, परमानन्द ठाकुर, वीरेन्द्र नारायण मिश्र, उमेश मिश्र, मुखिया बिन्दु देवी तथा पंचायत समिति सदस्या विभा देवी को क्लब परिवार के द्वारा सम्मानित किया गया.

मंच का संचालन क्लब के पूर्व अध्यक्ष राम किशोर राय के द्वारा किया गया. समारोह में दो धार्मिक नाटक जो भगवान शिव के लीलाओं पर केन्द्रित था, दिनांक 27 अक्टूबर को ‘शंकर का क्रोध’ तथा दिनांक 28 अक्टूबर को ‘उगना’ का मंचन किया गया है. साथ ही साथ सहरसा और बेगूसराय से आये बिहार के प्रसिद्ध कलाकारों ने कार्यक्रम में चार चांद लगा दिया.

सभी कलाकारों के अभिनय की दर्शको द्वारा जमकर प्रशंसा की गयी. खास कर ‘उगना’ के रूप में राम किशोर राय और विद्यापति के रूप में घनश्याम झा को देख दर्शक फूले न समाये और काफी तारीफें कीं. मौके पर हजारों की संख्या में दर्शकों ने कार्यक्रम में अपनी सहभागिता प्रदान की और कलाकारों का उत्साह बढ़ाया.

इस अवसर पर थानाध्यक्ष मधुरेन्द्र किशोर, दयाशंकर साहू, सुधीर कुमार राय, चन्द्र भूषण मिश्र, विजय कुमार मिश्र, कृष्णा कुमार झा, राज कुमार लाल, विक्रम पाठक, सन्नी झा, अमित किशोर राय, राघव झा, अमित कुमार मिश्र, ललित मोहन मिश्र, राम वल्लभ मुखिया, आशुतोष झा, मिथिलापति, अरविन्द सुमन, सोनू, बलराम, सचिन, प्रवीण, रामदास, अविनिश, धनंजय मिश्र, टुनटुन राय, विकास मिश्र, सुमन चन्द्र मिश्र, रणधीर मिश्र एवं जगन्नाथ झा सहित कई लोगों ने कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना योगदान दिया.