युवक की धारदार हथियार से हत्या, सुरौली गांव में अपराधियों ने घटना को दिया अंजाम

विभूतिपुर के सुरौली गांव में हत्यारों का सुराग पाने के लिए लाया गया खोजी कुत्ता

लाइव सिटीज, समस्तीपुर: विभूतिपुर थाने के सुरौली पंचायत के वार्ड-3 शर्मा टोल में अपराधियों ने युवक की धारदार हथियार से गोदकर हत्या कर दी. सुबह कोचिंग जा रहे छात्रों ने उसके घर के पास ही सड़क किनारे उसकी खून से लथपथ लाश देखी, उसके बाद ग्रामीणों को हत्या की जानकारी मिली.

मृत युवक की पहचान सुरौली के श्यामसुंदर शर्मा के 19 वर्षीय पुत्र रितेश कुमार शर्मा उर्फ भुल्ला के रूप में की गई है. वह गांव में ही बढ़ई का काम करता था. उसकी हत्या से आक्रोशित ग्रामीणों ने सुरौली चौक पर बांस- बल्ला लगाकर सड़क जाम कर आवागमन बाधित दिया. ग्रामीण हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे. हालांकि एक घंटे बाद थाना अध्यक्ष ने हत्यारों का सुराग पाने के लिए खोजी कुत्ता मंगवाने का आश्वासन दिया तब जाम हटा.

बताया गया है कि युवक घर में अकेला ही था. उसके परिवार का कोई सदस्य घर पर नहीं था. उसके पिता कोलकाता में हैं और बड़ा भाई मंजय लाल हैदराबाद में है. दोनों को घटना की सूचना दी जा चुकी है. सुबह युवक की लाश घर के निकट सड़क के किनारे खटिया पर पायी गयी. उसके बांये कान के उपर चाकू से गोदने का निशान है.

घटना के संबंध में आशंका जतायी जा रही है कि अपराधियों ने सुनियोजित तरीके से उसकी अन्यत्र हत्या करने के बाद लाश घर के निकट चारपाई पर रख दी. घटना स्थल पर पहुंचे थानाध्यक्ष कृष्णचंद भारती ने भी आशंका जतायी कि युवक की चाकू गोदकर कही अन्यत्र हत्या की गई है. रोसड़ा डीएसपी अरुध कुमार दुबे ने बताया कि हत्यारों को जल्द ही पुलिस चिह्नित कर गिरफ्तार करेगी. उन्होंने बताया कि पुलिस घटना की गहराई से छानबीन में जुटी है. परिजनों के बयान के बाद जांच में तेजी आएगी.

रितेश की हत्या की सूचना जैसे ही रिश्तेदारों को मिली सभी रोते बिलखते सुरौली पहुंचे. सबसे पहले मिश्रौलिया से उसकी बहन ललिता देवी पहुंची. उसके बाद भाभी सीता देवी मायके टभका से आयी. इसके बाद दूसरी बहन ममता देवी साठा मोहनपुर से पहुंची. एक-एक कर सभी नजदीकी परिजन पहुंचे चीत्कार मच गया. बताया गया है कि युवक की मां उषा देवी की मौत सात माह पूर्व ही हो चुकी है. पिता कोलकता गए हैं और भाई मंजयलाल शर्मा भी हैदराबाद में हैं. सभी घर के लिए चल चुके हैं.

रितेश की हत्या मामले की पड़ताल करने पहुंचा खोजी कुत्ता भी कुछ नहीं कर सका. खोजी कुत्ता मृतक के शव के निकट उसका चप्पल सूंघकर घर के पीछे एक बगीचे में गया. इसके बाद खेतों में इधर-उधर घूमने के बाद वापस शव के पास चला आया. जिससे पुलिस कोई निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सकी.

वैसे मृत युवक के बारे में किसी की धारणा गलत नहीं है. सभी उसे मिलनसार व्यक्ति मानते हैं. फिर भी उसकी हत्या को लेकर तरह- तरह की शंकायें लगायी जा रही है. मृतक के बायें हाथ पर अंग्रेजी में खून से लिखे एच भी कई शंकाओं का जन्म दे रही है. खून से लिखे एच के संदर्भ लोगों के बीच चर्चा है कि कही मामला प्रेम प्रसंग का तो नहीं ? अथवा युवक द्वारा किसी के दूसरे के प्रेम- प्रंसग के बाधक होने के कारण किसी से दुश्मनी तो नहीं ? अथवा एच युवक को मारने वाले अपराधी के नाम का पहला अक्षर तो नही या उसके प्रेमिका के नाम का पहला अक्षर तो नहीं ? घटना के पीछे ऐसे अनेक चर्चाएं हो रही है. फिर भी युवक के हत्या के कारणों का पता अभी नहीं चल सका है.