शेखपुरा में लंबे इंतजार के बाद खुला नीरा बिक्री केंद्र, अनिशा गांगुली ने की शुभारंभ

जीविका के जिला परियोजना प्रबंधक अनिशा गांगुली ने नीरा केंद्र का शुभारंभ किया

लाइव सिटीज,शेखपुरा (नीतीश कुमार) : लम्बी प्रतीक्षा के बाद जिले में नीरा की बिक्री जीविका के द्वारा प्रारम्भ की गई. जीविका के जिला परियोजना प्रबंधक अनिशा गांगुली ने नीरा केंद्र का शुभारंभ किया. शुभारंभ के उपरांत गांगुली ने लोगों को बताया कि नीरा ताड़, खजूर या नारियल के पेड़ से निकलने वाला रस से बनाया जाता है.

यह नीरा रस मीठा, पौष्टिक, नशारहित एवं दूधिया रंग का होता है. सूर्योदय से पहले निकलने वाले रस को पेड़ से उतार लिया जाता है तो यह नीरा रहता है. यह एक मीठा पेय रहता है. इसके पीने से नशा नहीं आता है. इसका उपयोग सभी पुरुष, महिलाये, बच्चे भी कर सकते हैं. मौके पर मौजूद जीविकोपार्जन विशेषज्ञ आमोद कुमार के द्वारा बताया गया कि नीरा में पर्याप्त मात्रा में पौष्टिक तत्व पाया जाता है.

जिसमें मुख्य रूप से शर्करा, विटामिन, खनिजलवण, फास्फोरस, आयरन (लोहा) एस्कोर्बिक एसिड पाए जाते है. नीरा की ख़ास बात यह है कि इसमें ग्लाईसेमिक इंडेक्स कम पाया जाता है.  जिसके कारण इसका उपयोग मधुमेह के मरीज भी सेवन कर सकते है.  नीरा का प्रयोग विभिन्न प्रकार के बीमारीयों में फायदेमंद होता है.  इसके सेवन से श्वास से सम्बन्धित बीमारी जैसे दमा, टीबी, इसके अलावे बाबासीर, जौंडिस, एक्जीमा, जैसे रोगों के ईलाज में रामबाण का काम करता है.

नीरा से ताल मिश्री, गुड़, पेडा, कैंडी, चीनी जैसे उत्पाद आसानी से बनाये जा सकते है. नीरा बनाया नहीं जाता है सिर्फ संग्रहण के तरीके में बदलाव से नीरा का उत्पादन किया जा सकता है. नीरा से सम्बन्धित स्टाल के उदघाटन मेंजीविका कार्यालय से  मो आफ़ताब आलम,  आनंद शंकर, अमरजीत कुमार, संजीव कुमार वर्मा, लक्ष्मीकांत प्यारेलाल एवं छोटू के द्वारा महत्वपूर्णसहयोग प्रदान किया गया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*