जेई हत्याकांड : नियोजन रद्द करने को लेकर असमंजस में जिला प्रशासन

शेखपुरा(ललन कुमार): जिले में पहली बार मनरेगा जेई हत्याकांड के मुख्य अभियुक्त नियोजित शिक्षक बालमुकुंद यादव का नियोजन रद्द करने में जिला प्रशासन असमंजस की स्थिति में दिख रहा है. हालांकि हत्यारोपी शिक्षक का नियोजन रद्द करने के लिए डीएम दिनेश कुमार और एसपी राजेंद्र कुमार भील ने संयुक्त रूप से डीईओ मो. तकिउद्दीन को आदेश पत्र निर्गत किया है.

इसकी जानकारी देते हुए डीईओ तकिउद्दीन ने बताया कि कारे पंचायत में कार्यरत नियोजित पंचायत शिक्षक बालमुकुंद यादव के नियोजन को रद्द करने के लिए डीएम और एसपी का पत्र मिला है. वे कार्रवाई करने के लिए कारे पंचायत के नियोजन इकाई को लिखा गया है. नियोजन इकाई का अध्यक्ष पंचायत की मुखिया और सचिव पंचायत सचिव होते हैं. अब नियोजन इकाई का काम है हत्याभियुक्त बालमुकुंद यादव के नियोजन को रद्द करना.

A

अब सवाल उठता है कि कारे पंचायत की नियोजन इकाई समिति अध्यक्ष कारे पंचायत की मुखिया बालमुकुंद यादव की भावज है, तो क्या ऐसे हालात में बालमुकुंद यादव का नियोजन रद्द हो पाएगा, यह भी सवालों के घेरे में है. बालमुकुंद कारे मध्य विद्यालय में शिक्षक के पद कार्यरत है. उनकी दबंगता कारे पंचायत में ऐसी है कि उसके खिलाफ बोलने को कोई तैयार नहीं है.

यहां तक कि जिस विभाग में वह कार्यरत हैं, उसके पदाधिकारी भी उसके नियोजन संबंधी जानकारी देने से दूर भागते दिखे. कार्यालय कर्मी तक मुंह खोलने से बचते रहे. इसी से उनकी दबंगता का अंदाजा लगाया जा सकता है. वहीं डीएम दिनेश कुमार ने बताया कि मनरेगा जेई हत्याकांड में आरोपी नियोजित शिक्षक बालमुकुंद यादव का नियोजन रदद् करने का आदेश डीईओ को दिया गया है.

आपको बताते चलें कि पिछले मंगलवार को शाम ढलते ही अपराधियों ने सदर ब्लॉक के मनरेगा में कार्यरत जेई उज्ज्वल राज को शहर के स्टेशन रोड स्थित मरिया आश्रम के पास गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी. इस हत्याकांड में बालमुकुंद यादव को मुख्य अभियुक्त बनाया गया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*