समाहरणालय के अंदर सीपीआई का उग्र प्रदर्शन, प्रदर्शनकारी गिरफ्तार

शेखपुरा: किसानों और गरीबों की समस्या को लेकर राष्ट्रव्यापी आंदोलन के तहत सीपीआई के समर्थकों ने शेखपुरा समाहरणालय के अंदर उग्र प्रदर्शन व घेराव किया. इस दौरान केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने जमकर नारेबाजी की.
इस प्रदर्शन का नेतृत्व सीपीआई के जिला सचिव प्रभात कुमार पांडेय ने किया. मौके पर प्रभात ने कहा कि देश आज अभूतपूर्व संकट के दौर से गुजर रहा है. किसानों द्वारा उत्पादित समानों का उन्हें न्यूनतम लागत मूल्य भी नहीं मिल रहा है. किसान अपनी परंपरागत काश्तकारी का पेशा छोड़ने को मजबूर हो रहे हैं. दो लाख किसान प्रतिदिन खेती छोड़कर शहरों की ओर अन्य धंधा अपनाने के लिए पलायन कर रहे हैं. देश के अंदर कर्ज चुकाने में असमर्थ 35 किसान प्रतिदिन आत्महत्या कर रहे हैं. लेकिन इन किसानों की चिंता न तो केंद्र सरकार को है और न ही राज्य सरकार को है. उन्होंने कहा कि देश के अंदर भाजपा के तीन साल के शासन काल में सबसे ज्यादा आत्महत्या महाराष्ट्र के किसानों ने की है.
मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार ने तो कर्ज माफी को लेकर आंदोलन कर रहे मन्दसौर के किसानों पर गोलियां भी चलवा दीं जिसमें पांच किसानों की मौत घटना स्थल पर ही हो गयी और दर्जनों किसान घायल हो गए. किसानों की दुर्दशा के लिए केंद्र की मोदी सरकार के साथ राज्य की सरकार भी दोषी है. राज्य सरकार किसानों को मिलने वाली अनुदान की राशि को अपने पदाधिकारियों से कागजी खानापूर्ति कर लूट करवा रही है. जरूरतमंद किसानों को वाजिब अनुदान नहीं मिल रहा है. फर्जी भूमिहीन किसानों के खाते में अनुदान राशि भेजी जा रही है. उन्होंने कहा कि अनुदान की राशि हड़पने के लिए पंचायत स्तर के पदाधिकारी से लेकर जिला स्तर के पदाधिकारी शामिल हैं. प्रभात ने कहा कि गरीबों को वासगत जमीन का पर्चा मिलने के बाद भी जिला प्रशासन दखल कब्जा दिलवाने में नाकाम साबित हो रहा है. राशन-किरासन लोगों को नहीं मिल रहा है. इसकी शिकायत कई बार डीएम से भी की गई लेकिन इस मामले को उन्होंने भी अनसुना कर दिया. ऐसा लगता है कि राशन किरासन घपला मामले में डीएम की भी मिली भगत है.
प्रभात ने कहा कि यदि इन समस्याओं पर जिला प्रशासन ध्यान नहीं देती है तो आंदोलन और उग्र किया जाएगा. प्रदर्शनकारियों के उग्र प्रदर्शन की सूचना पर मौके पर नव पदस्थापित एसडीओ राकेश कुमार, शेखपुरा बीडीओ सुनील कुमार चाँद और शेखपुरा थानाध्यक्ष संतोष कुमार दल बल के साथ प्रदर्शन स्थल पर पहुंच कर प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास किया. लेकिन प्रदर्शनकारी नहीं माने तो अंत में नियमानुसार जेल भरो अभियान के तहत उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. सभी गिरफ्तार किए गए महिला व पुरुष प्रदर्शनकारियों को शेखपुरा थाना ले आया गया. प्रदर्शनकारियों में सीपीआई के जिला सचिव प्रभात पांडेय, चन्द्रभूषण प्रसाद, कृष्णनंदन यादव, आनंदी सिंह समेत सैकड़ों महिला और पुरुष किसान प्रदर्शनकारी मौजूद थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*