जिला परिषद की दुकानों पर कई दिग्गज नेताओं का कब्जा

शेखपुरा.(ललन कुमार): जिले के बरबीघा और शेखपुरा स्थित जिला परिषद की दुकानों पर कई दिग्गज नेताओं का कब्जा वर्षों से बरकरार है. वर्षों से दुकान किराया नहीं दिए जाने को लेकर डीडीसी निरंजन कुमार झा ने उन दिग्गज नेताओं को किराए भुगतान के लिए नोटिस भेजा है.

डीडीसी ने बताया कि 2002 से 2016 के 31 दिसम्बर तक शेखपुरा में स्थित जिला परिषद के सभी 12 दुकानदारों को किराया भुगतान के लिए नोटिस भेजा गया है. उन्होंने बताया कि रेलवे स्टेशन के पास जिला परिषद की दुकान स्थित है. इन दुकानों का किराया 200 रुपए प्रतिमाह  2002 वर्ष में निर्धारित किया गया था. इसी दर से 31 दिसम्बर 2016 तक  उन किरायेदारों का किराया बकाया किसी के पास सवा लाख, किसी के पास डेढ़ लाख, तो किसी के पास पौने दो लाख तक पहुंच गया है. किराया भुगतान का वे लोग नाम ही नहीं ले रहे हैं.

A1

किराएदारों में कांग्रेस के दिग्गज नेता- सह नगर परिषद अध्यक्षा के कर्ताधर्ता गंगा कुमार यादव के पास दुकान संख्या-10 का कुल किराया बकाया 1,85,016 रूपये, उपेन्द्र सिंह दूकान संख्या-3 के पास कुल बकाया किराया 1,61,889 रूपये, जदयू नेता भुनेश्वर प्रसाद दूकान संख्या-4 के पास 1,61,889 रूपये, इंदु देवी दूकान संख्या-1 के पास 1,25,016 रु, मुख्तार मियाँ दूकान संख्या-11 के पास 1,41,608रु, शंकर हलवाई दूकान संख्या-8 के पास 1,48,984 रु समेत कुल 12 लोगों के पास किराया बकाये की नोटिस दी गयी है.

साथ ही उन्हें नोटिस में पहली जनवरी 2017 से प्रति दूकान 1600 रु प्रतिमाह  किराया भुगतान करने की सुचना भी  दी गयी है. यह बढ़ा किराया हर महीने की 5 तारीख को हरहाल में भुगतान करने का निर्देश बकायेदारों को दिया गया है. बिलम्ब से किराया भुगतान करने पर हर दिन 10 रु की दर से बृद्धि होती रहेगी. उन्होंने कहा कि जिला परिषद की दुकानों का बकाया किराया नहीं भुगतान किए जाने पर दूकान का आबंटन रदद् भी कर दिया जाएगा. वहीं बरबीघा में स्थित जिला परिषद की पक्के 32 दुकानों का किराया अपटूडेट कर लिया गया है किसी के पास कोई बकाया 2016 के अंत तक नहीं है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*