बिहार बजट : कांग्रेस-राजद ने नकारा, बीजेपी-जदयू ने सराहा

शिवहर (रंजीत मिश्रा) : बिहार के आम जनता को फिर से एक बार ठगने के काम बिहार सरकार के मुखिया नीतीश कुमार ने किया है. उक्त संबोधन कांग्रेस जिला अध्यक्ष मोहम्मद असद एवं राजद जिला अध्यक्ष सुमित कुमार उर्फ दीपू वर्मा ने दूरभाष पर बताया है. 1 लाख 76 हजार करोड़ का वित्त मंत्री सह उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने वित्तीय वर्ष 2018 एवं 19 का बजट पेश हुई है. जबकि भाजपा जिला अध्यक्ष संजीव कुमार पांडे ने बजट को आकार बढ़ाना सरकार की उपलब्धि बताया है. निबंधन शुल्क में बढ़ोतरी हुई है. 1500 किलोमीटर सड़क का निर्माण होगा, 17 सौ करोड़ रुपए से सड़क पर खर्च किए जाएंगे.

जदयू जिलाध्यक्ष राम एकवाल राय क्रांति ने बजट को आम जनों के हित में बताया है. क्रांति ने बताया है कि नए नर्सिंग कॉलेज खोले जाएंगे. कृषि रोड मैप से किसानों की तकदीर बदलेगी, मेडिकल कॉलेज को दुरुस्त किया जाएगा, नए अभियंत्रण कॉलेज खोलने से बिहार की तकदीर बदलेगी. शिवहर : परसौनी पंचायत में हुई पंचायतीराज प्रकोष्ठ की बैठक

राजद जिला अध्यक्ष सुमित कुमार उर्फ दीपू वर्मा ने बताया है कि नीतीश सरकार ने अपनी सामाजिक कार्य को गिनाया है. बाढ़ के दौरान जो कार्य किया गया था वह भी सरकार अपनी उपलब्धि गिना रही है. जबकि गरीब व आम जनता हुआ के बीच बाढ़ राहत सामग्री नहीं पहुंची परंतु आम बजट में सरकार की उपलब्धि दिलाना बेहद शर्मनाक है.

वहीं कांग्रेस जिला प्रवक्ता मुकेश कुमार सिंह ने बताया है कि गरीब जनता पिस रही है और नीतीश कुमार अपनी उपलब्धि गिनाने में लगे हुए हैं. राजद जिला अध्यक्ष सुमित कुमार उर्फ दीपू वर्मा कांग्रेस जिलाध्यक्ष मोहम्मद असद सहित कई लोगों ने बिहार बजट को नकार दिया है. जबकि पंचायती राज प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष अनिल कुमार रजक ने बताया है कि आम बजट जनहित के लिए है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*