शिवहर में 42 प्राइवेट स्कूलों की निबंधन अवधि समाप्त, शिक्षा विभाग भेजेगा नोटिस

school
प्रतीकात्मक फोटो

लाइव सिटीज, शिवहर (रंजीत मिश्रा) : शिवहर जिले में 42 प्राइवेट स्कूलों की निबंधन अवधि समाप्त हो गयी है. इसपर अब शिक्षा विभाग ने कड़ा रुख अख्तियार करते हुए कहा है कि ऐसे विद्यालय जल्द अपना रिन्यूअल करा ले, अन्यथा कार्रवाई की जाएगी. विभाग के संभाग प्रभारी के द्वारा मिली जानकारी के अनुसार शिवहर जिले में सैकड़ो छोटे-बड़े प्राइवेट विधालय चल रहे हैं, फिर भी 50 ने ही वर्ष 2017 में अपना निबंधन कराया था.

मिली जानकारी के अनुसार जिले में स्थित डीएवी नरहा ब्रांच, आस्था विद्या निकेतन,  स्वामी विवेकानंद शिवहर, ओरिएंटल पब्लिक स्कूल शिवहर, ज्ञानलोक पब्लिक स्कूल शिवहर, विद्या विहार शिवहर, सीक्रेट हार्ड मिशन शिवहर, लिटिल जॉन शिवहर आदि का निबंधन अवधि समाप्त हो चुका है. इनमें डीएवी नरहा ब्रांच ने अभी तक निबंधन नहीं कराया है.

शिवहर जिले के एकमात्र केएनएस पब्लिक स्कूल कुशहर शिवहर ही वर्ष 2018 में अपने विद्यालय का निबंधन कराया था.

गौरतलब हो कि किसी भी प्राइवेट विद्यालय का निबंधन कराने के लिए विद्यालय का कमरा अगर 15/20 का है, तो उसमें 40 बच्चे के अनुपात में योग्य शिक्षक की प्रतिनियुक्ति करना है. साथ में स्वच्छ कमरा, शौचालय, बिजली, पंखा, बच्चे को पढ़ाने के लिए सारे उपकरणों जैसे कंप्यूटर, पुस्तकालय आदि के साथ-साथ बच्चों को खेलने के लिए बरामदा के साथ एक मैदान भी होनी चाहिए. विद्यालय किसी ट्रस्ट या एनजीओ के तहत संचालित हो.

इससे पहले वर्ष 2011 में 60 विद्यालयों ने निबंधन कराया था, वर्ष 2013-14 में भी 42 विद्यालयों ने निबंधन कराया था. वर्ष 2017 में भी 50 प्राइवेट विद्यालय निबंधित थे एवं वर्ष 2018 में एकमात्र विद्यालय केएनएस पब्लिक स्कूल में ही निबंधित है.

कई सामाजिक संगठनों ने बताया है कि शिक्षा विभाग के लचीले रवैया के कारण प्राइवेट विद्यालयों के द्वारा रिनुअल नहीं कराया जा रहा है, क्योंकि वह सरकार के नियम के तहत नहीं आ पा रहे हैं.

कई विद्यालयों के संचालकों ने बताया है कि शिक्षा विभाग के द्वारा हमें समय पर नोटिस नहीं देने के कारण जानकारी उपलब्ध नहीं होती है. फिर भी हम लोग सरकार के नियम के तहत विद्यालय संचालित करते हैं. कई विद्यालय संचालकों ने बताया है कि अगर हमें शिक्षा विभाग के द्वारा सूचना दी जाए तो हम सरकार के नियम के तहत रहेंगे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*