बाढ़ राहत की सूची में अनियमितता बरतने को लेकर बाढ़ पीड़ितों ने किया प्रदर्शन

शिवहर: बाढ़ राहत की सूची में अनियमितता को लेकर बाढ़ राहत के सूची से वंचित लोगों का समाहरणालय पर धरना प्रदर्शन जारी है. शिवहर प्रखंड क्षेत्र के सुगिया कटसरी के ग्रामीणों ने सोमवार को समाहरणालय पर प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने मुखिया पर आरोप लगाते हुए कहा कि बाढ़ राहत सर्वे में पुनः अनियमितता उजागर हुई है. मुखिया ने सिर्फ अपने आदमियों का नाम बाढ़ राहत के सर्वे लिस्ट में शामिल करवा कर भेजा था. दूसरे सर्वे में भी मुखिया ने अपने ही आदमियों और उन लोगों का नाम शामिल करवाने का काम किया जिसने पैसे दिए.

सूची में जिन लोगों का नाम शामिल नहीं हो पाया उन लोगों ने आक्रोशित हो समाहरणालय पर प्रदर्शन किया. आपको बताते चलें कि 14 अगस्त को आई बाढ़ के बाद पीड़ितों की जानकारी के लिए सर्वे किया गया था. ऐसे कुछ लोगों के खाते में 6 हजार रूपये की राशि डाली गई थी. इसमें बरती गयी अनियमितता को लेकर ग्रामीणों ने मुखिया के खिलाफ प्रदर्शन और सड़क जाम किया था. जिसके बाद जिला पदधिकारी राजकुमार के द्वारा दुबारा सर्वे का आदेश दिया गया था. जब दुबारा सर्वे किया गया तो उसमें भी अनियमितता बरतने की बात सामने आ रही है. कुछ ग्रामीणों का कहना है कि दुबारा बनी सूची में भी उनका नाम नहीं शामिल किया गया है. जिसका नाम पहली सूची में शामिल किया गया था उसके खाते में 6 हजार रूपये आ चुके हैं. उन लोगों का नाम दुबारा बनी सूची में भी शामिल है. इस बात को लेकर ग्रामीण आक्रोशित हैं और विरोध—प्रदर्शन करने पर उतारू हैं.

मुखिया पर सवाल उठना लाजिमी
अगर पहली लिस्ट में कुछ लोगों का नाम आया तो फिर दूसरी लिस्ट में नाम कैसे आया? इसी बात को लेकर सूची में नाम आने से वंचित लोग आक्रोशित हो रहे हैं

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*