महिला चिकित्सक डॉ. नसीमा हसन की सेवानिवृत्ति हुई

शिवहर: सदर अस्पताल शिवहर में सिविल सर्जन डॉक्टर विश्वंभर ठाकुर की अध्यक्षता में सेवा निवृत्त महिला चिकित्सक नसीमा हसन की विदाई समारोह आयोजित की गई  जिसमें सदर उपाधीक्षक डॉक्टर मेहंदी हसन, उप मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर मीना शर्मा, डॉक्टर युगल किशोर प्रसाद, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉक्टर केएन प्रसाद सहित जिले के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के चिकित्सक एवं अस्पताल कर्मी मौजूद थे.
इस मौके पर समाजसेवी विजय विकास ने डॉक्टर नसीमा हसन के किए गए कार्यों का उल्लेख विस्तारपूर्वक किया तथा उनके बताए गए रास्ते पर चलने का आह्वान किया है.  कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर युगल किशोर प्रसाद ने किया. दरभंगा मेडिकल कॉलेज में MBBS की डिग्री प्राप्त कर डॉक्टर नसीमा हसन ने 1979 में सीवान जिला के हुसैनगंज प्रखंड के माहपुर निवासी डॉ. मेहदीं हसन से शादी की थी.  हुसैनगंज अस्पताल से चिकित्सा पदाधिकारी बनकर जिला शिवहर में वर्ष 1990 में योगदान दिया था. बीच में भभुआ तबादला हुआ फिर वह शिवहर आ गयीं.
गौरतलब हो कि शिवहर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी के रूप में डॉ. हसन ने सेवा दी थी. डॉक्टर नसीमा हसन जिला शिवहर के डुमरी प्रखंड के नया गांव निवासी पिता शमसुल हक के घर जन्म ली और मुजफ्फरपुर से प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की है. सिविल सर्जन डॉक्टर ठाकुर ने बताया कि डॉ. हसन अपने सेवाकाल में समय की पाबंद अधिकारी रही हैं. उन्होंने कुरान भेंट करते हुए उनके दीर्घ जीवन की कामना की.
सिविल सर्जन डॉक्टर ठाकुर ने बताया कि चिकित्सक कभी सेवा निवृत्त नहीं होते हैं, वे जीवन पर्यंत चिकित्सा के क्षेत्र में कार्य करते रहते हैं. सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. मेहदी हसन ने कहा कि जीवन संगिनी के रूप में डॉ नसीमा हसन सफल साथी मिलीं.  उनके घर और चिकित्सा क्षेत्र में योगदान अनुकरणीय रहा है, जो यादगार रहेगा.  जिले के सभी चिकित्सा पदाधिकारियों ने डॉक्टर नसीमा हसन को मृदुभाषी, समर्पित कर्तव्यनिष्ठ, चिकित्सा पदाधिकारी बताया तथा सभी चिकित्सा पदाधिकारी एवं कर्मियों ने कहा है कि जरूरत पड़ने पर उनसे समय—समय पर परामर्श भी लेते रहेंगे.
कार्यालय के लेखा सहायक मृत्युंजय कुमार सिंह ने कहा कि डॉक्टर नसीमा हसन के कारण ही वह ज्यादा खुश रहते थे और उनके दिए हुए कार्यों का निष्पादन ससमय करते रहते थे. उन्होंने सभी कर्मियों से उनके दिए गए निर्देश का अनुकरण करने का अनुरोध किया.  विदाई समारोह में डॉक्टर नसीमा हसन ने कहा है कि मैं सदैव अपने कर्तव्य के प्रति वफादार रही हूं. आपको यकीन दिलाती हूं कि जीवन में हमेशा गरीब और दुखियों की सेवा करती रहूंगी. आयोजित विदाई समारोह में डॉक्टर अरुण कुमार, डॉक्टर संतोष कुमार वर्मा, डॉक्टर सुरेश राम, डॉक्टर टीपी सिंह, डॉक्टर अंजना वर्मा, डॉक्टर आरके सिंह, डॉक्टर अनीश कुमार सहित कई चिकित्सकों ने डॉक्टर नसीमा हसन को मृदुभाषी, कर्तव्यनिष्ठ एवं समर्पित पदाधिकारी बताया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*