शिवहर : महज 8000 रूपये कमाने को लेकर पहुंच गया होमगार्ड जेल

पोलिंग अफसर की पेट में गोली आरपार होने से मृत्यु हो गई थी

लाइव सिटीज, शिवहर(रंजीत मिश्रा) : यह होनी ही कहिए या गरीबी मजाक, कल 2019 के लोकसभा चुनाव में बूथ संख्या 275 पर एक होमगार्ड के जवान के द्वारा उनके राइफल की धोखे से फायरिंग के कारण एक पोलिंग अफसर की पेट में गोली आरपार होने से मृत्यु हो गई थी. होमगार्ड सरयुग दास कटिहार जिला के कोकेटुआ थाना क्षेत्र के बंजराहा गांव का निवासी है तथा वह बेहद गरीब बताया गया है तथा एकमात्र कमाने वाला व्यक्ति था.

कटिहार जिला के उनके साथी होमगार्ड ने अपना नाम ना छापने की स्थिति में बताया था कि होमगार्ड के जवान सरजुग दास बेहद गरीब है, होमगार्ड का जवान बड़ी जुगत लगाकर चुनाव में ड्यूटी पाया था. बताया गया है कि लोकसभा चुनाव के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में जाकर चुनाव में ड्यूटी करने को लेकर चुनाव आयोग के तरफ से 8000 प्रति होमगार्ड को मिलता है. ड्यूटी पाने को लेकर गिरफ्तार होमगार्ड जवान को बड़े अधिकारियों के पीछे चक्कर लगाना पड़ा था.

उनके साथी होम गार्डों ने बताया कि घर पर जाकर चंदा वसूल कर ही गिरफ्तार होमगार्ड सरजुग दास को जमानत के लिए पहल किया जाएगा. इसके अलावा दूसरा कोई विकल्प ही नहीं है. उसके घर परिवार में यहां तक की एकमात्र कमाने वाला सरजू दास ही है. उस घर में जो गिरफ्तार किए गए हैं. जानकारी के अनुसार पिछले कई चुनावों में होमगार्ड के जवान ने सरजू दास ने ड्यूटी दी थी, परंतु यह होनी ही कहिए जो घटना घट गई और एक पोलिंग अधिकारी को पेट में जाकर गोली लग गई.

आखिर गलती की है तो सजा मिलनी ही चाहिेए. कई लोगों ने बताया कि जब उस होमगार्ड को राइफल संभालना नहीं आता तो चुनाव आयोग के तरफ से इतनी बड़ी जिम्मेदारी क्यों दे दी गई. एक गलती के कारण एक घर परिवार पूर्ण रूप से बर्बाद हो गया है. जरूरत है कि अस्त्र शास्त्र देने से पूर्व उनके कार्य करने की क्षमता को भी आकलन करने की जरूरत है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*