रीगा स्टेशन के होम सिग्नल के समीप सवारी गाड़ी की चपेट में आने से महिला जख्मी

लाइव सिटीज, रंजीत मिश्रा (सीतामढ़ी) : रीगा-सीतामढ़ी रक्सौल रेल खंड के रीगा स्टेशन के होम सिग्नल के समीप अप सवारी गाड़ी 75225 के चपेट में आने से एक 30 वर्षीय अज्ञात महिला बुरी तरह जख्मी हो गई. महिला की एक पैर बुरी तरह कट के हट चुका है जबकि दूसरा पैर फैक्चर हो गया है. महिला जिंदगी और मौत से जूझ रही है.

आपको बता दें कि उस समय वहां मौजूद स्थानीय लोगों ने अपने तत्परता दिखाते हुए तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गया जहां डॉक्टर एवं चिकित्सीय सुविधा नदारद रहने के कारण लोगों के दबाव पर तत्काल सीतामढ़ी रेफर कर दिया गया है. वहां मौजूद लोगों ने बताया कि करोड़ों रुपए की लागत से बना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शोभा की वस्तु ही बनकर रह गई है. जब कभी भी कोई घटना दुर्घटना होने पर वहां पहुंचने पर डॉ. नदारद मिलते हैं. जब डॉक्टर नदारद मिलते हैं तो अन्य कर्मी भी उसका लाभ उठाकर अपना मनमानी करते हैं. जब भी कोई व्यक्ति घटना दुर्घटना का शिकार होकर अस्पताल पहुंचता है वहां पहुंचते ही तुरंत उसको रेफर करने के प्रक्रिया में मौजूद कर्मी जुट जाते हैं.

मालूम हो कि रीगा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मुख्य रूप से दलालों के रहमो करम पर चलता है. जबकि इस और किसी अधिकारी का ध्यान नहीं जाता है. कभी कबार पूर्व के डीएम आया जाया करते थे लेकिन आने की सूचना पूर्व से मौजूद रहने पर वहां जो लोग तैनात थे. वे लोग साफगोई से डीएम के सामने अपना पक्ष रखते रहे हैं. जरूरत है करोड़ों रुपए लागत से बने भवन चिकित्सीय उपकरण एवं सारी सुविधाएं जहां उपलब्ध हो. वहां चिकित्सकों के व्यवहार के कारण आम लोगों को इस स्वास्थ्य केंद्र का कोई लाभ नहीं मिलता है जबकि अस्पताल मुख्य रूप से 30 बेड का है.

परंतु वहां पहुंचने वाले किसी भी रोगी को वहां ठहरने की इजाजत तक नहीं दी जाती है. तत्काल उसे संसाधन की कमी बताकर रेफर कर दिया जाता है. इस क्रम में कई लोग काल के गाल में समा चुके हैं. परंतु सरकार इस ओर आज तक कोई कठोर कदम नहीं उठाए गए हैं जिसको लेकर लोगों में आक्रोश व्याप्त है.

 

About Md. Saheb Ali 2 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*