बुक पॉलिटिक्स: सुशील मोदी ने लिखी ‘लालू लीला’, तो शशि थरूर ने पीएम मोदी पर लिखी किताब

शशि थरूर, पीएम मोदी, Lalu Leela, Book- Lalu Leela, Lalu Prasad Yadav, Sushil Modi, Lalu family, BJP, RJD, Corruption, लालू लीला, किताब- लालू लीला, लालू प्रसाद यादव, सुशील मोदी, लालू यादव परिवार, बीजेपी, आरजेडी, भ्रष्टाचार, बिहार, Bihar

लाइव सिटीज डेस्क: भारतीय राजनीति में पक्ष-विपक्ष के बीच आरोप-प्रत्यारोप चलता रहता है. जुबानी जंग भी खूब होती है. एक दूसरे के खिलाफ रैली करते हैं, भाषण देते हैं, लेकिन लंबा वार करने के लिए अब किताब पॉलिटिक्स भी शुरू हो गई है. बिहार में डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के घोटालों पर एक किताब ‘लालू लीला’ लिखी है जिसका आज लोकार्पण होगा. तो वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने पीएम मोदी पर एक किताब लिख डाली है.

क्या है शशि थरूर की किताब में

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने ‘द पैरोडॉक्सियल प्राइम मिनिस्टर’ नाम से एक किताब लिखी है. उन्होंने बुधवार को ट्विटर पर अपने किताब के बारे में बताया है. शशि थरूर ने अपनी किताब के बारे में ट्वीट किया, मेरी नई किताब ‘द पैराडॉक्सिकल प्राइम मिनिस्टर’ सिर्फ किसी भी बात को बेकार बताने की आदत वाली 400 पन्नों की किताब नहीं है बल्कि उससे कहीं ज्यादा है. किताब के बारे में जानने के लिए इसे प्री-ऑर्डर करें. थरूर की किताब के कवर पेज पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मैडम ट्यूसड म्यूजियम में हाथ जोड़े खड़े अपने मोम के पुतले को करीब से देख रहे हैं.

थरूर ने अपनी किताब की घोषणा करते हुए 29 अक्षरों (लेटर) के जिस ‘floccinaucinihilipilification’ शब्द का प्रयोग अपने ट्वीट में किया है वो एक लैटिन शब्द है. इसका मतलब यह है कि ‘किसी भी बात को बेकार बताने का अनुमान या आदत.’ हालांकि यह स्पष्ट है कि शशि थरूर ने इसका इस्तेमाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसने के रूप में किया है. थरूर की यह किताब ऑर्डर के लिए ई-कॉमर्स वेबसाइट एमजॉन पर उपलब्ध है. तिरुअनंतपुरम से लोकसभा सांसद शशि थरूर अब तक 17 पुस्तकें लिख चुके हैं. वो अपने भाषणों और किताबों में खास और चुटीले शब्दों के इस्तेमाल के लिए जाने जाते हैं.

सुशील मोदी की ‘लालू लीला’

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर ‘लालू लीला’ किताब लिखी है. ‘लालू लीला’ में लालू प्रसाद यादव के भ्रष्टाचार की कहानी लिखी गई है. जयप्रकाश नारायण ने कांग्रेस के भ्रष्टाचार के खिलाफ संपूर्ण क्रांति का बिगुल फूंका था, लेकिन उनके अनुयायी लालू प्रसाद यादव के भ्रष्टाचार की पोल खोलने के लिए सुशील मोदी ने यह दिन चुना है. सुशील मोदी ने अपनी किताब में लिखा कि लालू प्रसाद यादव ने विधायक, पार्षद, सांसद और मंत्री बनाने के एवज में रघुनाथ झा और कांति सिंह जैसे नेताओं से जमीन व मकान दान में लिखवा लिया.

यह भी पढ़ें- डिप्टी CM सुशील मोदी ने लिखी ‘लालू लीला’, 11 अक्टूबर को होगा पुस्तक का लोकार्पण

About Razia Ansari 1935 Articles
बोल की लब आज़ाद हैं तेरे, बोल जबां अब तक तेरी है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*