साहेब 10 सर काटने की बातें हुआ करती थी, 11 पाक कैदी रिहा करने की नहीं…

modi-nawaz

लाइव सिटीज डेस्क : पाकिस्तान के साथ जारी तनावपूर्ण हालात के बीच भारत ने सोमवार 11 पाकिस्तानी कैदियों को रिहा कर दिया और उन्हें वाघा सीमा चौकी पर पड़ोसी देश के अधिकारियों के सुपुर्द कर दिया. जानकारी के मुकाबिक पाकिस्तानी नागरिकों की जेल की सजा पूरी होने के बाद उन्हें रिहा कर दिया गया.

बता दें कि कुछ दिन पहले ही अस्ताना में शंघाई सहयोग संगठन की शिखरवार्ता से इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने एक दूसरे का हालचाल पूछा था. अधिकारियों के मुताबिक भारत ‘सद्भावना’ के तहत ऐसा करने जा रहा है. दरअसल पाकिस्‍तान ने इस आधार पर इनकी रिहाई की मांग की थी कि ये सभी कैदी अपनी सजा पूरी कर चुके हैं. हाल में कुलभूषण जाधव मामले में तनातनी के बाद भारत की तरफ से यह पहला बड़ा कदम है.

modi-nawaz

एक ओर भारत पाकिस्तान के बीच जब हालात इतने नाजुक हैं तो भारत सरकार का यह कदम लोगों को रास नहीं आ रहा है. लोग सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं और सरकार के इस कदम की आलोचना कर रहे हैं.

ट्विटर पर अभय दूबे लिखते हैं- ‘मित्रता सीखनी हो तो मोदी जी से सीखिए, दुश्मन देश के PM को गले लगाते है, हाथ मिलाते है, उसके इशारे पर उसके 11 कैदियों को रिहाई देते है.’

https://twitter.com/DubeyAbhay_/status/874279606676860928

बेबाक पत्रकार के एक ट्विटर हैंडल से लिखा गया है कि – ‘पाकिस्तान आज दोहरी खुशी कैसे झेलेगा, एक तरफ श्रीलंका से मैच की जीत की खुशी, दूसरी तरफ भारत सरकार ने उनके 11 कैदियों को आज़ादी दे दी.’

https://twitter.com/RoflRavish/status/874322892351168512

साहेब 10 सर काटने की बातें हुआ करती थी, अगर 11 पाक कैदी रिहा करने की बात होती तो आप प्रधानमंत्री न बनते। #BJPKaPakistanPrem

https://twitter.com/RoflRavish/status/874297429386031104

काकावाणी ट्विटर हैंडल ने लिखा है कि – ‘पाकिस्तान ने 72 घंटे में 6 बार किया सीजफायर का उल्लंघन -मोदी सरकार ने दिखाई दरियादिली, वाघा बॉर्डर के रास्ते रिहा किए 11 पाकिस्तानी कैदी…’

https://twitter.com/AliSohrab007/status/874191374081556480

यह भी पढ़ें – रवीश का बीजेपी से बड़ा सवाल, आप मुझसे क्यों डरते हैं !
मीडिया की आजादी पर क्यों वायरल हुई अरूण शौरी की तकरीर, पढ़कर देखिए