ट्विटर पर आईं मलाला यूसुफजई, आधे घंटे में ही आ गए लाखों फॉलोअर्स

malala-yusuf

सबसे कम उम्र में नोबेल शांति पुरस्‍कार हासिल करने वाली मलाला यूसुफजई अब टि्वटर पर भी हैं. मलाला ने शुक्रवार को ट्विटर पर अपना हैंडल बनाया और इसके साथ सोशल मीडिया पर अपनी मौजूदगी दर्ज कराई. हाई स्‍कूल से ग्रेजुएट होने के बाद मलाला ट्विटर पर आई हैं. वर्ष 2014 में मलाला ने नोबेल पुरस्‍कार जीता था और इसके साथ ही वह सबसे कम उम्र में नोबेल पुरस्‍कार विजेता बन गई थीं.

मलाला युसुफजई ने शुक्रवार को पहली बार ट्विटर पर एक पोस्ट डाला और आधे घंटे में उनके एक लाख फॉलोवर्स बढ़ गए. यह पक्की तौर पर तो नहीं कहा जा सकता है लेकिन यह अपने आप में एक रिकॉर्ड है. मलाला ने इस पहली पोस्ट में लिखा ‘ Hi, Twitter’. इसके बाद उन्होंने लिखा कि आज स्कूल में आखिरी दिन था लेकिन ट्विटर पर पहला दिन..

हालांकि मलाला ने ट्विटर अपना अकाउंट साल 2012 में ही बना लिया था लेकिन पहला पोस्ट उन्होंने बीते शुक्रवार यानी 7 जुलाई को किया है. मलाला को ट्विटर पर लोग स्वागत करते हुए “दिलचस्प” सलाह भी दे रहे हैं. इससे पहले मलाला अपने संगठन के आधिकारिक ट्विटर पेज पर ही मैसेज देती रही हैं.  इस ट्विटर हैंडल से भी उनके निजी तौर पर इस सोशल साइट से जुड़ने पर स्वागत किया गया है.

मलाला का ट्विटर हैंडल @Malala है और ट्विटर पर आते ही उन्‍होंने करीब 400,000 फॉलोअर्स को भी अपनी लिस्‍ट में शामिल कर लिया. मलाला के ट्विटर पर आने के कुछ ही घंटों बाद कई ग्‍लोबल लीडर्स उनके फॅालोअर्स की लिस्‍ट में आ गए. कनैडियन पीएम जस्टिन ट्रड्यू से लेकर यूनाइटेड नेशंस के जनरल सेक्रेटरी एंटोनिया गुटारेश तक ने उनका स्‍वागत किया और उन्‍हें फॉलो किया. ट्विटर की ओर से भी उनका एक औपचारिक स्‍वागत किया. मलाला को इस समय बिल गेट्स और उनकी पत्‍नी मेलिंडा गेट्स, न्‍यूयॉर्क के पूर्व अटॉनी प्रीत भरारा और कैलिफोर्निया से सीनेटर कमला हैरिस जैसे लोग भी फॉलो कर रहे हैं.

कौन हैं मलाला यूसुफजई
मलाला केवल 11 साल की थीं जब उन्होंने लड़कियों की शिक्षा पर ब्लॉग लिखना शुरू किया था. साल 2012 में जब वह 15 साल की थीं जब उनके ऊपर तालिबान ने उन पर जानलेवा हमला किया था. घायल मलाला का इलाज ब्रिटेन में हुआ और इस दौरान पूरी दुनिया में उनके ठीक होने की दुआएं की जा रही थीं. डॉक्टरों ने काफी मेहनत के बाद मलाला को बचा लिया तब से वह ब्रिटेन में रहकर ही पढ़ाई कर रही हैं. इसके बाद से वह पूरी दुनिया में वह मशहूर हो गईं.  10 दिसंबर 2014 को उन्हें कैलाश सत्यार्थी के साथ संयुक्त रूप से नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया.

यह भी पढ़ें – सोशल मीडिया पर ट्रेंडिंग में है #CBIRaidsLalu, ट्विटर पर ले रहे चुटकियां...
टॉप ट्रेंडिंग में है #ModiInIsrael, सोशल मीडिया पर हो रहा ‘नमो-नमो’