सोशल : ‘इस घर में छोटी लड़कियां हैं, गेट से बाहर रहें बीजेपी कार्यकर्ता’

कठुआ गैंगरेप, सुप्रीम कोर्ट, केंद्र सरकार, उन्नाव गैंगरेप, महबूबा मुफ्ती , जम्मू-कश्मीर , कठुआ गैंगरेप , PDP , mehbooba mufti , kathua, kathua gangrape

लाइव सिटीज डेस्क : कठुआ गैंगरेप मामले में केरल में लोगों का गुस्सा भारतीय जनता पार्टी पर उतर रहा है. सोशल मीडिया पर तो यह गुस्सा खूब ही देखने को मिल रहा है. कई दिनों से ट्विटर पर #BalatkariJantaParty ट्रेंड कर रहा है. लेकिन ab यह गुस्सा शहरों मुहल्लों और गलियों में भी देखने को मिल रहा है. लोग जगह जगह प्रोटेस्ट तो कर रहे हैं. साथ ही कुछ ऐसे बैनर और पोस्टर भी देखने को मिल रहे हैं जिसमें साफ़ दिख रहा है कि लोगों में बीजेपी के खिलाफ कितना गुस्सा है.

पोस्टर से हो रहा है बीजेपी का विरोध

कठुआ का गुस्सा देश के कोने कोने में है. केरल में कुछ घरों के बाहर ऐसे पोस्टर लगे देखे गए जिनमें बीजेपी का नाम हैशटैग बलात्कारी जनता पार्टी के साथ लिखा गया. अजीब तरीक से चलाए जा रहे इस अभियान में लिखा गया है कि ‘इस घर में 10 साल से कम उम्र की लड़कियां हैं, इसलिए वोट मांगने वाले बीजेपी के उम्मीदवार दूर रहे.’ बीजेपी के खिलाफ केरल में विरोध अभियान ऐसे समय जोर पकड़ रहा जब जल्द ही यहां की चेंगन्नूर सीट के लिए उपचुनाव होना है.

कार्टून भी हो रहा वायरल

कुछ कार्टून भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें केसरिया धोती पहनने वाले, हाथों में कलावा और माथे पर तिलक लगाकर निकलने वाले बीजेपी समर्थकों या संघमित्रों को जनता के द्वारा खारिज किया जा रहा है. इसके अलावा कुछ पोस्टरों में लिखा जा रहा है कि वोट मांगने वाले बीजेपी समर्थक अपने पर्चे बाहर छोड़ दें. फिलहाल बीजेपी के आला नेताओं की तरफ से इस बारे में अभी कोई खास प्रतिक्रिया नहीं आई. केरल के पोस्टरों में मलयालम भाषा में संदेश लिखे गए हैं और अब इन्हें सोशल मीडिया पर भी खूब शेयर किया जा रहा है.

बता दें कि इसी वर्ष जनवरी में जम्मू-कश्मीर के कठुआ में एक आठ वर्षीय बच्ची को अगवा कर कई दिनों तक उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था और उसकी निर्ममता से हत्या कर दी गई थी. पुलिस की चार्जशीट में बच्ची की निर्ममता की बात सामने आने के बाद से देश भर में कठुआ मामले पर गुस्सा देखा जा रहा है. आम आदमी से लेकर सेलिब्रिटी तक अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं.
. सोशल मीडिया पर बच्ची को न्याय दिलाने की मांग करते हुए कई अभियान चलाए जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें : कठुआ मामले में सुनवाई आज से, पीड़िता की वकील को मिल रही हत्या-रेप की धमकी

About Razia Ansari 1514 Articles
बोल की लब आज़ाद हैं तेरे, बोल जबां अब तक तेरी है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*