Social Media पर Viral हैं मोर-मोरनी, जस्टिस शर्मा जी भी शेम-शेम

लाइव सिटीज डेस्क : राजस्थान हाईकोर्ट के जज महेश चंद्र शर्मा के एक बयान पर सोशल मीडिया में ख़ूब चर्चा हो रही है. भारतीय मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक महेश शर्मा ने कहा है कि मोर इसलिए राष्ट्रीय पक्षी है क्योंकि वो सेक्स नहीं करता है और मोरनी उसके आंसू पीकर ही गर्भवती हो जाती है.

इस बयान पर सोशल मीडिया पर ख़ूब चटखारे लिए जा रहे हैं. कुछ लोगों ने जहां जस्टिस महेश चंद्र शर्मा पर निशाना साधा वहीं ज़्यादातर ने इस पर व्यंग्य किए.

फेसबुक पर इमरान अख्तर खान लिखते हैं – “जज साहब! कभी भूलकर भी जंगल में मत जाइयेगा, वरना सब मोर आपको पटक के आंसू पिला देंगे!”

वसीम अकरम त्यागी ने शेयर किया- ‘मोरनी मोर के आंसू से प्रिग्नेंट होती है, अयोध्या का क्या महात्म्य है, खीर खाकर बच्चा होता है, मुंह, बाजू, जांच और पांव से संतान पैदा होती है, सूरज और चंद्रमा से संतान प्राप्ति हो सकती है, मनुष्य के सर पर हाथी का सिर ट्रांसप्लांट हो सकता है, आदि विषयों का दिव्य ज्ञान बहुत ज़रूरी हो चला है.

अब सीएम, पीएम, जज सबको नियमित प्रवचन करना चाहिए. आज सीएम अयोध्या में प्रवचन कर आए हैं. जज साहब मोरनी की प्रिग्नेंसी में मोर के आंसुओं के योगदान पर प्रकाश डाल चुके हैं. हम आज ही कल में विश्वगुरु बनने वाले हैं. समझो अब बने कि तब बनें. आसमान में देखते रहो, फूल बरसने वाले हैं.’

साधवी मीनू जैन लिखती हैं- ‘नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए . . . . . . . . .
जस्टिस जी , नानी की मोरनी को मोर क्यूं ले जाते भला . वे तो ब्रहमचारी होते हैं ना ?
😛 😀

दिलीप सी मण्डल लिखते हैं- मोर-मोरनी आख्यान सुनकर राजस्थान हाईकोर्ट में अवैध रूप से खड़े बदमाश मनु के आँसू निकल पड़े. इस तरह धरती पर ख़ास तरह के मानवों का जन्म हुआ.

बिपिन मिश्रा कुमार ने लिखा- ‘मोर-मोरनी पर इतने शोधपूर्ण विचार के लिए नोबेल पुरस्कार भी छोटा पडे़गा! गाय को ‘राष्ट्रीय पशु’ क्या संघ की मंजूरी हो तो भारत यानी इंडिया का नाम बदलकर ‘गाय देश’ रख दिया जाये! वैसे भी ‘इंडिया’ कुछ अंगरेजी है और ‘भारत’ कुछ सेक्युलर लगता है, ‘गाय देश’ जमेगा!’

विमल प्रकाश लिखते हैं- मोर-मोरनी कि निजता को जस्टिस शर्मा ने सार्वजनिक कर दिया है!मेनका गांघी इनपर FIR दर्ज़ करवाईयेगा या नहीँ! ???

प्रवीन कुमार प्रभाकर लिखते हैं-  ‘मोर मोरनी के चक्कर में सब भूल जायेंगे,
पर मैं नहीं भुलूँगा मोदीजी.

आपने कहा था की 80% गौरक्षक गुन्डे हैं, कहा था कि नहीं?
तो फिर उन 80% गौरक्षकों पर लगाम लगाने के लिये आपने क्या किया?

ज़रा जल्दी इन झूठे गौ प्रेमी लोगों को पकडवाईए,
अगले चुनाव में 24 महीने से भी कम बचे हैं.’

अंतिम पोस्ट…

“मोर-मोरनी कभी सेक्स नहीं करते..मोरनी, मोर के आंसू पीती है और गर्भवती हो जाती है: (राजस्थान हाई कोर्ट के जज)

ऐसे-ऐसे लोग तो जज हैं हमारे मुल्क में जो पंचतंत्र की कहानियों को सच माने बैठे हैं..वो तो भला हो इंटरनेट का वरना आज की जनरेशन भी सही सेक्स एजुकेशन ना मिलने पर ऐसी बेवकूफी भरी बातें करती..जज साहब, मोरनी कैसे गर्भवती होती है ये आप अपने 10 साल के पोते से पूछ लेना ? ?

यह भी पढ़ें – पीएम से मिलने पर ट्रोल हुई प्रियंका, फिर यूजर्स को दिया ऐसा जवाब
मोदी सरकार नहीं देगी रोजगार, गौरक्षा दल व हिंदू वाहिनी में नौकरी खोजें युवा