क्या भाजपा राजस्थान में चुनाव जीतने के लिए बांट रही है 10 लाख मोटरसाइकिल?

लाइव सिटिज डेस्क : साल 2018 के अंत में राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों में होड़ सी मच गई है. कोई भी पार्टी किसी प्रकार की गलती नहीं करना चाह रही है. कांग्रेस-बीजेपी दोनों पार्टियां इस चुनाव में अपना दमखम लगाने के लिए तैयार है. यहां बीजेपी से सीएम वसुंधरा राजे गौरव यात्रा निकाल रही हैं ताकि लोगों को अपने पांच साल का हिसाब दे सकें. वहीं कांग्रेस भी सत्ता में वापसी के लिए जोर लगा रही है.

इन सभी के बीच सोशल मीडिया पर एक तस्वीर है जो वायरल हो रही है जिसमें एक मैसेज लिखा है. इस तस्वीर में बीजेपी का चुनाव चिह्न लगी कुछ मोटरसाइकिलें दिख रही हैं. साफ दिखाई दे रहा है कि 3 लोग इनके पास में खड़े हैं. इस तस्वीर के साथ मैसेज में लिखा है – भाजपा सारे राजस्थान में अपने कार्यकर्ताओं को चुनाव प्रचार के लिए 10 लाख मोटरसाइकिल बांट रही है. इसे कहते हैं काला धन को सफेद करना. लोग भूख से मर रहे हैं और भाजपा अरबों रुपए चुनाव अभियान में फूंकने को तैयार है.

ये तस्वीर I Support Ravish Kumar नाम के पेज से शेयर किया गया है. इसे अब तक 24 हजार से ज्यादा बार शेयर किया जा चुका है. साथ ही कई और लोगों ने इस पोस्ट को बिना सच जाने शेयर कर दिया.

आइए जानते हैं इस तस्वीर की सच्चाई…

तस्वीर को जब हमने गूगल रिवर्स इमेज में सर्च किया. पता चला कि ये फोटो उत्तर प्रदेश की है. यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने 245 बाइक्स और 3 स्कूटी का इस्तेमाल किया था. यह फोटो गोरखपुर के खोराबार इलाके का है. यहां के जंगल सिकरी गांव में ये मोटरसाइकिलें खड़ी थीं तब यह फोटो लिया गया. खबरों के मुताबिक अब इन्हीं बाइक्स को बीजेपी तेलंगाना चुनाव में भी इस्तेमाल करने वाली है.

अब जानते हैं 10 लाख मोटरसाइकिल बांटने की बात के बारे में…

इस बारे में राजस्थान भाजपा के मीडिया इंचार्ज विमल कटियार ने बताया कि भाजपा चुनाव में जा रहे अपने 200 विस्तारकों को मोटरसाइकिल बांट रहे हैं. इनमें से 101 विस्तारकों को मोटरसाइकिल बांट दी गई हैं. 200 विधानसभा क्षेत्रों के हिसाब से बजाज की 200 सीटी-100 बाइक्स बांटी जा रही हैं. यह 10 लाख का फर्जी आंकड़ा किसी ने अपनी मर्जी से डाल दिया है. यह एकदम गलत है.

इससे साफ पता चलता है कि यह पोस्ट फर्जी है. यह फोटो राजस्थान का न होकर उत्तर प्रदेश का है और मोटरसाइकिलें 10 लाख नहीं 200 ही बांटी जा रही हैं.

About Ritesh Sharma 3275 Articles
मिलो कभी शाम की चाय पे...फिर कोई किस्से बुनेंगे... तुम खामोशी से कहना, हम चुपके से सुनेंगे...☕️

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*