सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए ‘प्रभु’, यूजर्स कह रहे- अब यहां से भी पैसे ले लो प्रभु

लाइव सिटीज डेस्क : ट्रेन को देश के मिडिल क्लास  और लोअर मिडिल क्लास के सफर का माध्यम माना जाता है. ट्रेन के कोच में अगर सर्वाधिक डिमांड वाली कोई सीट होती है तो वह है लोअर बर्थ. इस डिमांड के कारण कई हैं. कुछ मनोवैज्ञानिक भी हैं और कुछ सुविधा के हिसाब से भी.

लेकिन सर्ज प्राइसिंग के जरिए रेल यात्रियों की जेब में सुराख कर चुके रेल मंत्री सुरेश प्रभु इस सुराख को और बड़ा करने की तैयारी में हैं. इस तैयारी की आहट सोशल मीडिया पर आते ही बवाल मच गया है. लोगों ने प्रभु को अपने ही अंदाज में किराया वसूलने के नए—नए आइडियाज देने शुरू कर दिए हैं.

भारतीय रेलवे अपने ग्राहकों को तगड़ा झटका देने की तैयार कर रहा है. चर्चा है कि अगर आप ट्रेन में आरामदायक सफर करने के लिए लोअर बर्थ को वरीयता देते हैं तो ज्यादा पैसे चुकाने के लिए तैयार रहिए. कमाई के नए तरीके ढूंढ रही रेलवे ने ट्रेन की लोअर बर्थ का चार्ज बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है. रेलवे ने लोअर बर्थ की बुकिंग पर 50 रुपये की वृद्धि करने की सिफारिश की है.

गौरतलब है कि ट्रेनों में लोअर बर्थ की भारी डिमांड रहती है. ऐसे में रेलवे इन सीटों पर चार्ज को बढ़ाकर मुनाफा कमाने की योजना बना रहा है. एक रिपोर्ट के मुताबिक जिस तरह फ्लाइट में अधिक लेग स्पेस वाली सीट की डिमांड ज्यादा रहती है इसलिए रेलवे अब ट्रेनों में यह प्रयोग करना चाहता है. अगर रेलवे का यह प्रस्ताव मंजूर हो गया तो लोअर बर्थ के लिए आपको ज्यादा पैसे चुकाने पड़ सकते हैं.

भारतीयों को क्यों पसंद है लोअर बर्थ?

आमतौर पर भारतीय रेलवे कोच में तीन स्तर पर सोने की व्यवस्था होती है. इसमें दिन में और रात नौ बजे तक यात्री लोअर बर्थ पर ही बैठे रहते हैं. इसके बाद अपनी सीटों पर शिफ्ट होते हैं. आम भारतीय मानसिकता है कि लोअर बर्थ के टिकट धारक की हैसियत मालिक जैसी होती है और वह अक्सर खिड़की के पास ही बैठा पाया जाता है.

इससे उसे न सिर्फ बाहर के नजारों का आनंद मिलता है बल्कि ताजी हवा(नॉन एसी कोच) भी सबसे ज्यादा मिलती है. उम्रदराज लोगों और महिलाओं के लिए भी लोअर बर्थ बेहद आरामदेह साबित होती है. कई बार लोग सहयात्रियों की प्रार्थना पर अपनी लोअर बर्थ किसी वृद्ध या फिर महिला के लिए छोड़ भी देते थे, लेकिन पैसे चुकाकर सीट खरीदने के बाद शायद यह मुमकिन न हो सके.

सोशल मीडिया पर ‘प्रभु’ पर वार

सोशल मीडिया पर लोअर बर्थ महंगा करने की तैयारी की खबर पर सुरेश प्रभु को ट्रोल कर लिया गया है. लोगों ने इस बार महंगा करने की खबर पर चुटकी लेते हुए सुरेश प्रभु को ऐसे नायाब तरीके सुझाए हैं जिन्हें सुनकर वाकई आपकी हंसी छूट जाएगी. कुछ ऐसे ही तरीके सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. गौर फरमाइए.

1. इंजन के साथ वाले डिब्बे का किराया ज्यादा होना चाहिये क्योंकि ये सबसे पहले पहुंचता है.
2. प्लेटफार्म 1 पर ठहरने वाली गाड़ियों का किराया भी ज़्यादा वसूला जाना चाहिए.
3. पत्नी को मायके छोड़ने जाते हुए पुरुषों से 4 गुणा किराया भी लिया जा सकता है.
4. ट्रेन में लटक कर यात्रा करते हुए स्पाईडर मैन की फीलिंग लेने पर एक्स्ट्रा चार्ज लगे.
5. पायदान पर गमछा बिछाकर बैठने पर दुगुना किराया होना चाहिए.
6. पंखा चलाने, मोबाइल चार्जिंग करने का 50 रुपये सरचार्ज भी लिया जाना चाहिए.
7. ट्रेन में बैठकर ताश खेलने पर मनोरंजन कर भी वसूल किया जा सकता है.
8. सुबह पटरियों पर प्रेस कांफ्रेंस करने वालों से 5—5 रुपये वसूल करके भी सालाना अरबों रुपये की आय बढ़ाई जा सकती है
9. एक्सप्रेस ट्रेन से ज्यादा, पैसेंजर ट्रेन सैर कराती है, जंगल, पहाड़ और खेतों के बीच रोककर यात्रियों को प्रकृति से संबंध बनाने का अवसर

भी प्रदान करती है, अत: उसका किराया बढ़ाकर उसे पर्यटन रेलगाड़ी भी घोषित किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें:-

पटना में RJD-BJP कार्यकर्ताओं में हिंसक झड़प, लाठी-डंडे चले, कई घायल
RJD की रैली से कांप रही है BJP, बेचैनी में बयान दे रहे हैं भाजपा नेता