11000 करोड़ लेकर नीरव मोदी भागे, बैंक 50-100 रुपए की पेनाल्टी लगाकर देशभक्तों से वसूलेगी

neerav

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : सोशल मीडिया पर अभी यह पत्र बहुत वायरल है. व्हाट्सएप यूनिवर्सिटी और फेसबुक विद्यापीठ से सबों के पास पहुँच रहा है. शायद आपको भी मिला हो. यह लेटर नीरव मोदी के नाम किसी सच्चे देशभक्त ने लिखा है. अब नीरव मोदी कौन हैं, यह बताने की जरूरत तो रही नहीं. पंजाब नेशनल बैंक का 11,345 करोड़ रुपया लेकर भागे मोदी विदेश में कहीं मौज कर रहे हैं. साथ में, अपने नए शोरूम का उद्घाटन भी. भारत का हाल ये है कि लोग नीरव मोदी के आधार कार्ड का नंबर जानने को परेशान हैं. कारण कि सरकार का दावा रहा है कि आधार के बूते वह किसी को भी खंगाल लेगी.

नीरव मोदी के साथ बैंक लूट में शामिल मेहुल चौकसी का तो और भी कुछ पता नहीं चला रहा. उन्होंने आज अपने आउटलेट्स में काम करने वाले कर्मचारियों से कहा है कि कहीं और जाकर नौकरी करो, हम तनख्वाह देने की स्थिति में अब नहीं हैं. मेहुल चौकसी दुनिया के किस बिल में घुसे हैं, कोई नहीं जान सका है. नीरव मोदी तो कह रहे हैं कि पंजाब नेशनल बैंक अब कोई उम्मीद में न रहे, मेरा ब्रांड ही खराब हो गया. सरकार नीरव और मेहुल के ठिकानों पर छापेमारी के दौरान मिले हीरे-जवाहरात को उपलब्धि मान रही है. पर बड़ा सच यह है कि ये हीरे-जवाहरात 5000 के हैं कि पांच लाख के, सभी भ्रम की स्थिति में हैं.



इस बीच वायरल हो रहे पत्र में नीरव मोदी को भारत के सच्चे देशभक्त ने लिखा है कि नीरव भाई, तुम बिलकुल चिंता मत करना. परेशान मत होना. जहां हो, खुश रहना. खूब तरक्की करना. बैंक से लूटे रुपयों के लिए परेशानी किस बात की. अरे बैंक वाले तो हमारे जैसे भारतीयों से 50-50, 100-100 रुपए की पेनाल्टी लगाकर वसूल ही लेंगे. अभी देश माल्या साहब का कर्ज चुका रहा है, फिर तुम्हारा भी चुका देंगे.

पत्र में कहा गया है कि हम भारतीयों को तो अब लगने ही लगा है कि हम कमाते ही इसलिए हैं कि आप जैसे बड़े-बड़े लोगों के बैंकों का कर्ज भर सकें. हमलोगों का जन्म भी शायद इसलिए ही हुआ है. नीरव भाई, आप बिलकुल परेशान मत होना. आपके द्वारा खाए गए गबन का एक-एक पैसा सूद के साथ हम देशवासी बैंक को वापिस कर सच्चे देशभक्त कहलायेंगे. जय हिंद, जय भारत.

लाइव सिटीज के ‘एक शाम शूरवीरों के नाम’ कार्यक्रम की पूरी कवरेज, बस एक क्लिक पर

PHOTOS : पत्नी संग आये रविशंकर, जवानों के साथ LiveCities का भी हौसला बढ़ाया