I-Phone इस्तेमाल करते हैं तो जान लें, अनइंस्टाल करना पड़ सकता है यह जरुरी एप

app

लाइव सिटीज डेस्क : अगर आप आई-फ़ोन इस्तेमाल करते हैं तो हो सकता है कि आनेवाले दिनों में आपको अपने मोबाइल से कैब बुकिंग सर्विस उबर का एप हटाना पड़े. दरअसल ऐसा इस आधार पर कहा जा रहा है कि एप्पल के सीईओ टीम कुक ने यह पाया था कि उबर अवैध तरीके से एप्पल की निजता सम्बंधित कुछ शर्तों का उल्लंघन कर रहा है.



समाचार पत्र ‘न्यूयार्क टाइम्स’ में रविवार को प्रकाशित एक खबर के मुताबिक, एप्पल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) टिम कुक को 2015 में जब पता चला था कि कलानिक ने अपने कर्मचारियों को एप्पल द्वारा निर्मित कैब सेवा प्रदाता एप की नकल करने के लिए कहा है तो उन्होंने कलानिक से मुलाकात की.  कुक को पता चला था कि उबर किसी आईफोन से उबर का एप अनइंस्टाल करने और मोबाइल को रीस्टोर करने के बावजूद उबर गोपनीय तरीके से उन आईफोन की पहचान कर उन्हें टैग कर रही है, जो एप्पल की निजता वाले दिशा-निर्देशों का उल्लंघन था और कुक ऐसा नहीं चाहते थे.

File illustration picture showing the logo of car-sharing service app Uber on a smartphone next to the picture of an official German taxi sign

खबर में कहा गया है कि कुक ने उस बैठक में कलानिक से चेतावनी के स्वर में कहा था कि मुझे पता चला है कि आप हमारे कुछ नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं. यह चालाकी बंद कीजिए अन्यथा एप्पल के एप स्टोर से आपका एप पूरी तरह हटा दिया जाएगा.

हालांकि उस वक़्त एप्पल ने अपने स्टोर से उबर का एप नहीं हटाया. अगर उस समय एप्पल के एप स्टोर से उबर का एप हटा दिया गया होता तो उबर को आईफोन धारक लाखों ग्राहकों से वंचित होना पड़ता. फिलहाल उबर ने इस मामले में कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है जिससे मामले में उसका पक्ष जाना जा सके. इस बारे में तकनीकी एक्सपर्ट्स का मानना है कि उबर अगर भविष्य में भी ऐसा करता रहा तो निश्चित ही टीम कुक उबर के खिलाफ कुछ कड़ा कदम उठा सकते हैं. यह कदम उबर को एप्पल स्टोर्स से हमेशा के लिए बैन किया जाना भी हो सकता है.

यह भी पढ़ें :
Whatsapp लाया ख़ास अपडेट, अब नहीं रहेगी मैसेज पढ़ने की भी जरुरत
घर बैठे दुनिया के किसी भी पते पर ले जाएगा नया Google Earth Virtual
फेसबुक की नई तकनीक : सोची हुई बात हो जाएगी कंप्यूटर पर टाइप