अब गूगल नहीं दिखाएगा कोई भी ‘फेक न्यूज़’, हो गई तैयारी

google-fakenews-search-ss-1920

लाइव सिटीज डेस्क : इंटरनेट और सोशल मीडिया पर झूठी, भ्रामक और तथ्यहीन खबरों की बहुतायत आज की तारीख में एक बड़ी समस्या है. तथ्यहीन और साजिशन फैलाये जा रहे झूठे सिद्धांत (कांस्पीरेसी थ्योरीज) की फेसबुक पोस्ट्स और व्हाट्सएप फॉरवर्ड्स में भरमार हो गई है. हालात यह है कि सर्च इंजन गूगल पर भी किसी घटना या व्यक्ति के बारे में खोजने पर उससे संबंधित विभिन्न भ्रामक खबरें और कांस्पीरेसी थ्योरीज टॉप रिजल्ट्स में दिखाई देने लगी हैं. लेकिन अब इन सबसे निपटने के लिए गूगल ने भी कमर कस ली है.

Google Misinformation

स्क्रॉल.इन की एक रिपोर्ट के अनुसार गूगल ने मंगलवार को जानकारी दी है कि वो झूठी, भ्रामक खबरें और कांस्पीरेसी थ्योरीज को सर्च रिजल्ट्स में आने से रोकने के लिए नए तकनीकों पर काम कर रहा है. गूगल के अनुसार इसके लिए स्ट्रक्चरल बदलाव की जरूरत थी जिस वजह से अब वो अपने सर्च अल्गोरिथम को अपग्रेड कर रहा है. गूगल इसके लिए अपने इवैल्यूएटर्स को ऐसे वेबसाइट्स को पहचानने की ट्रेनिंग देगा.

factcheckfakenewssites

इस बारे में गूगल का कहना है कि रोजाना उसके सर्च रिजल्ट्स में 0.25% ऐसे रिजल्ट्स होते हैं जिन्हें यूज़र्स ने ‘भ्रामक या झूठी खबर’ के तौर पर चिन्हित किया होता है. गूगल ने इस महीने ही ‘फैक्ट चेक’ नाम का एक फीचर लांच किया है, जिसकी मदद से यूज़र्स झूठी और भ्रामक खबरों की पहचान कर सकेंगे. जल्द ही यह फीचर सबके लिए अवेलेबल होगा. सर्च रिजल्ट में सभी न्यूज़ स्टोरीज़ के साथ एक फैक्ट चेक टैग दिखेगा. यूजर इस इस टैग के माध्यम से उस स्टोरी से संबंधित और भी जानकारी (जैसे – किसने कोई स्टेटमेंट कब दिया, और उस स्टेटमेंट की क्या वैधता है) प्राप्त कर सकते हैं. गूगल ने इसके लिए ‘पॉलिटीफैक्ट’ और ‘स्नोपस’ जैसे फैक्ट चेकिंग साइट्स की मदद ली है.

google-fakenews-search-ss-1920

गौरतलब है कि पिछले माह मार्च में गूगल के प्रतिद्वंदी सोशल मीडिया साइट फेसबुक ने भी इन फेक न्यूज़ रिपोर्ट्स पर लगाम लगाने के लिए किसी न्यूज़ स्टोरी को ‘डिस्प्यूट’ (विवादित) रिपोर्ट करने की सुविधा दी थी. जैसे ही कोई यूजर किसी स्टोरी को ‘डिस्प्यूट’ रिपोर्ट करता है फेसबुक अपने थर्ड पार्टी सहयोगी की मदद से उसकी जांच कराएगा. फेसबुक ने भी इसके लिए ‘पॉलिटीफैक्ट’ और ‘स्नोपस’ जैसे फैक्ट चेकिंग साइट्स की मदद ली है.

यह भी पढ़ें :
रेल यात्रा से जुड़ी हर समस्या का जवाब है ‘हिंदरेल’, जून में होगा लांच
I-Phone इस्तेमाल करते हैं तो जान लें, अनइंस्टाल करना पड़ सकता है यह जरुरी एप
मुफ्त का जवाब मुफ्त से, Vodafone लाया 9जीबी फ्री डेटा सरप्राइज