Facebook का नया कारनामा, डिलीट कर दिए Sent Messages, अब लाएगा नया फीचर

मार्क जकरबर्ग , फेसबुक यूजर्स , फेसबुक डिलीट मेसेज , फेसबुक अनसेंड मेसेज , फेसबुक , mark zuckerberg , facebook unsend message , facebook delete msg , facebook,

लाइव सिटीज डेस्क : Facebook के दिन अभी अच्छे नहीं चल रहे और कैंब्रिज एनालिटिका स्कैंडल के चलते सोशल मीडिया दिग्गज की कड़ी आलोचना हो रही है. ऐसी भी खबरें हैं कि मार्क ज़करबर्ग और दूसरे फेसबुक एग्जिक्युटिव्स द्वारा यूजर्स को भेजे गए मेसेज रहस्यमयी तरीके से डिलीट हो गए. अभी फेसबुक यूजर्स भेजे गए मेसेज को डिलीट नहीं कर सकते हैं, लेकिन कंपनी के शीर्ष अधिकारियों ने किसी तरह इस टास्क को किया और लोगों को मिले मेसेज डिलीट हो गए.

लेकिन Sent Message को डिलीट करने वाले इस एक्शन को फेसबुक एग्जिक्युटिव्स और इसके यूजर्स के बीच ‘विश्वासघात’ देखा जा रहा है. बल्कि, फेसबुक ने Tech Crunch के साथ बातचीत में पुष्टि कर दी है कि कंपनी ने कुछ मेसेज चुपचाप डिलीट किए. जबकि उनके जवाब अभी तक मौज़ूद हैं. इससे पहले टेक क्रंच ने दावा किया था कि वेबसाइट के पास ईमेल्स हैं जिनमें डिलीट किए गए मेसेज के सबूत हैं.

मार्क जकरबर्ग , फेसबुक यूजर्स , फेसबुक डिलीट मेसेज , फेसबुक अनसेंड मेसेज , फेसबुक , mark zuckerberg , facebook unsend message , facebook delete msg , facebook,

मेसेज को डिलीट करने वाले फीचर पर काम कर रही है

टेक क्रंच के साथ बातचीत में फेसबुक ने अपनी योजना का खुलासा करते हुए कहा कि कंपनी फेसबुक यूजर्स के लिए भेजे गए मेसेज को डिलीट करने वाले फीचर पर काम कर रही है. फेसबुक के मुताबिक, ‘2014 में सोनी के ईमेल हैक होने के बाद कंपनी ने अपने एग्जिक्युटिव्स की बातचीत की सुरक्षा के लिए कुछ बदलाव किए. इनमें मेसेंजर में मार्क के भेजे गए मेसेज को एक निश्चित समय के अंदर डिलीट करना भी शामिल है. ऐसा हमने कानूनी दायरे में रहते हुए किया.’

फेसबुक ने हालांकि इस इस बात की जानकारी नहीं दी कि यह फीचर किस तरह काम करेगा और बताया कि अभी फीचर पर काम चल रहा है. फेसबुक ने स्पष्ट किया कि सोशल नेटवर्किंग साइट पर पहले ही एक टाइमर फंक्शन है, जिसका इस्तेमाल यूजर एक निश्चित अवधि के अंदर मेसेज को ऑटोमैटिक डिलीट करने के लिए सेट कर सकते हैं.

यह है मामला

अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रम्प की मदद करने वाली एक फर्म ‘कैम्ब्रिज एनालिटिका’ पर लगभग 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स की निजी जानकारी चुराने के आरोप लगे हैं. इस जानकारी को कथि‍त तौर पर चुनाव के दौरान ट्रंप को जिताने में सहयोग और विरोधी की छवि खराब करने के लिए इस्तेमाल किया गया है. इसे फेसबुक के इतिहास का सबसे बड़ा डेटा लीक कहा जा रहा है.

यह भी पढ़ें : 5 दिन में 53 हजार करोड़ तक घट गई मार्क जकरबर्ग की दौलत, Facebook डेटा लीक ने डूबा दिया

वायरल हो रहा है नित्यानंद राय का Facebook Chat, महिला से मांग रहे हैं फोटो