Xiaomi Mi Max 2 स्मार्टफोन की पहली फ्लैश सेल आज, रिलायंस जियो के 100GB अतिरिक्त डाटा के साथ उपलब्ध

लाइव सिटीज डेस्क : शाओमी मी मैक्स 2 को नई दिल्ली में मंगलवार को आयोजित एक इवेंट में लॉन्च किया गया था. चीनी स्मार्टफोन निर्माता ने रिलायंस जियो के साथ साझेदारी की है, जिसके तहत ऑनलाइन व ऑफलाइन चैनल के जरिए शाओमी मी मैक्स 2 खरीदने पर पर अतिरिक्त 100 जीबी 4जी डेटा मिलेगा. यह ऑफर मई 2018 तक 309 रुपये के 10 रीचार्ज कराने तक सीमित है. इवेंट में रिलायंस जियो के प्रेसीडेंट डिवाइसेज, सुनील दत्त ने इस ऑफर का ऐलान किया, और रिलायंस जियो के लॉन्च के बाद से अब तक छह महीने में भारत में मोबाइल डेटा ख़पत के अनुभव के बारे में कुछ नए और कुछ पुराने ऐलान किए.
याद दिला दें कि, दत्त ने इस दावे को दोहराया कि जियो के लॉन्च से पहले भारत में हर महीने 0.2 बिलियन गीगाबाइट मोबाइल डेटा की ख़पत होती थी. लेकिन, पिछले साल जियो के लॉन्च होने के बाद से भारतीय उपभोक्ता ने छह महीने में डेटा ख़पत बढ़ाकर 1.2 बिलियन गीगाबाइट प्रति माह कर दी है, जिसमें से अकेले 1 बिलियन गीगाबाइट मोबाइल डेटा की ख़पत जियो सब्सक्राइबर द्वारा की जाती है.
पिछले छह महीनों में डेटा ख़पत के बाज़ार में छह गुना बढ़ोत्तरी हुई है, जिसमें जियो ने सबसे ज़्यादा मदद की है. गौर करने वाली बात है कि, टेलीकॉम कंपनी ने सबसे तेज 100 मिलियन (10 करोड़) सब्सक्राइबर जोड़ कर विश्व कीर्तिमान बनाया. दत्त ने यह भी दावा किया कि भारत में मोबाइल डेटा की होने वाली ख़पत में रिलायंस जियो का 85 प्रतिशत पर अकेले कब्ज़ा है, जिसका मतलब है कि एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया का हिस्सा बाकी बचे 15 प्रतिशत बाज़ार में है.
इसके अलावा, उनका दावा है कि लगभग सारा वीडियो डेटा ख़पत का ट्रैफिक जियो पर ही होता है. दत्त ने कहा कि रिलायंस जियो ने अपने नेटवर्क पर हर रोज करीब एक साथ एक समय पर 3.6 मिलियन (36 लाख) वीडियो स्ट्रीम होते देखी हैं. इन आंकड़ो को पिछले काफ़ी समय से बताया जा रहा है और जल्द ही अब नई घोषणाएं होने की उम्मीद है.
जियो द्वारा भारतीय रैंकिंग में इन उपलब्धियों के साथ, दत्त ने आगे बताया कि जियो दुनिया का अकेला एक्साबाइट (वन क्विंटिलन बाइट) नेटवर्क है, और दुनिया के मोबाइल डेटा ट्रैफ़िक के15 प्रतिशत हिस्से में जियो की हिस्सेदारी है. इसी के साथ जियो दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल डेटा नेटवर्क बन जाता है और जिससे मोबाइल डेटा ख़पत की रैंकिंग में अमेरिका, चीन, जापान और दक्षिण कोरिया से आगे भारत नंबर 1 पर है.
ये आंकड़े बताते हैं कि रिलायंस जियो ने भारत में 12 महीने से भी कम समय में कितनी तेजी से कामयाबी हासिल की है. टेलीकॉम कंपनी ने भारत में 4जी क्रांति ला दी है और ऐप्पल जैसी बड़ी टेक्नोलॉजी कंपनियां का ध्यान अपनी तरफ़ ख़ीचा. ऐप्पल भी देश में अब अपनी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट खोलने पर विचार कर रही है.