बिहार कैबिनेट की बैठक में 14 एजेंडों पर लगी मुहर, धान खरीद के लिए 6 हजार करोड़ मंजूर

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क: बिहार कैबिनेट की बैठक में 14 एजेंडों पर मुहर लगी है. बैठक में पास हुए प्रस्ताव की बात करे तो उड़ीसा के पुरी में अतिथि गृह बनायी जाएगी. साथ ही कई विभाग में पदों का सृजन किया गया है. कोर्ट में मुंसिफ के लिए 128 कर्मी, डोभी  ओपी  के लिए 32 पद के सृजन की स्वीकृति,पुल निर्माण निगम के लिए एक IT मैनेजर की स्वीकृति,भवन निर्माण निगम में वास्तुविद सेवा संवर्ग के लिए 44 पद का सृजन किया गया है.

उड़ीसा के पुरी जिला अंतर्गत बालूखंड ग्राम के श्री जगन्नाथ एनक्लेव में बिहार सरकार को अतिथि गृह निर्माण हेतु आवंटित 0.450 एकड़ भूमि पर अतिथि गृह निर्माण के लिए उड़ीसा इंडस्ट्रियल इन्फ्राट्रक्चर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन के मनोनय की स्वीकृति दी गई है.



भवन निर्माण विभाग में 44 पदों का सृजन किया गया है. बिहार कर्मचारी राज्य एलोपैथिक बीमा चिकित्सा पदाधिकारी नियमावली 2020 की स्वीकृति दी गई है. बिहार औद्योगिक प्रशिक्षण सेवा नियमावली 2020 को कैबिनेट ने मंजूरी दी है. बिहार में खरीफ विपणन मौसम 2020-21 से बिहार राज्य सहकारी बैंक लिमिटेड को राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम नबार्ड व अन्य वित्तीय संस्थाओं से 3500 करोड़ रुपए ऋण प्राप्त करने के लिए राज्य की गारंटी प्रदान करने के संबंध में निर्णय लिया गया है.

बिहार में न्याय मंडल गया, कटिहार, मधुबनी, नवादा, वैशाली, सुपौल के अधीन क्रमशः अनुमंडलीय न्यायालय नीमचक बथानी मनिहारी, फुलपरास, जयनगर, रजौली महुआ, निर्मली एवं त्रिवेणीगंज में एक मुंसिफ न्यायालय तथा एक अवर न्यायाधीश सब जज न्यायालय के लिए विभिन्न कोटि के कुल 128 अराजपत्रित कर्मियों के पदों के सृजन की स्वीकृति दी गई है. लोकसभा /विधानसभा आम चुनाव / उपचुनाव  के दौरान निर्वाचन कार्य में प्रतिनियुक्त कर्मियों के अनुग्रह अनुदान की  घटनोत्तर स्वीकृति दी गई है।

गया जिला के शेरघाटी अनुमंडल के डोभी थाना अंतर्गत ग्राम बहेरा में ओपी का सृजन एवं उसके संचालन हेतु कुल 32 पदों के सृजन की स्वीकृति दी गई है.बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड के अधीन आईटी मैनेजर के एक पद के सृजन की स्वीकृति के संबंध में कैबिनेट ने निर्णय लिया है. डॉ.सज्जाद हैदर चिकित्सा पदाधिकारी धमदाहा पूर्णिया को वर्ष 2008 से लगातार अनधिकृत रूप से अनुपस्थित रहने के आरोप में सेवा से बर्खास्त करने का फैसला लिया है.