बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद बीजेपी से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार

लाइव सिटीज डेस्क : BJP  की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार का नाम फाइनल हो गया. बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद BJP की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार होंगे. यह अहम फैसला सोमवार को भाजपा की दिल्ली में हुई बैठक में लिया गया.

दअरसल राष्ट्रपति चुनाव के उम्मीदवार को लेकर सोमवार को भाजपा की सबसे अहम बैठक दिल्ली में हुई. इसमें काफी माथापच्ची के बाद राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के नाम पर मुहर लगी. एनडीए ने बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का अपना उम्मीदवार बनाया है. 

बता दें कि रामनाथ कोविंद 16 अगस्त 2015 को बिहार के गवर्नर के पद पर नियुक्त किये गए थे. इससे पहले 1994-2006 तक वो सांसद रहे हैं. राम नाथ कोविन्द का जन्म उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले की (वर्तमान में कानपुर देहात जिला ) , तहसील डेरापुर के एक छोटे से गांव परौंख में हुआ था. कोविन्द का सम्बन्ध कोरी या कोली जाति से है जो उत्तर प्रदेश में अनुसूचित जाति के अंतर्गत आती है. वकालत की उपाधि लेने के पश्चात दिल्ली उच्च न्यायालय में वकालत प्रारम्भ की. वह 1977 से 1989 तक दिल्ली हाई कोर्ट में केंद्र सरकार के वकील रहे. वे भाजपा के दलित प्रकोष्ठ के अध्यक्ष के साथ-साथ बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रहे हैं.

BJP संसदीय दल की बैठक में तय हुआ नाम 

इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू, नितिन गडकरी समेत संसदीय बोर्ड के अन्य सदस्य मौजूद थे.

बता दें कि पार्टी ने इससे पहले तीन सदस्यों की एक कमेटी गठित की थी.  जो सभी दलों से राष्ट्रपति के संभावित उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा कर चुकी थी . इनमें गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली और सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू शामिल हैं. इस बैठक में इस समिति द्वारा सभी दलों के नेताओं से किए गए विचार-विमर्श पर भी चर्चा की गई.  हालांकि, इस तीन सदस्यीय कमेटी के दो सदस्य आज की संसदीय दल की बैठक में शामिल नहीं हुए थे. गृह मंत्री राजनाथ सिंह का पैर फ्रैक्चर हो चुका है जबकि वित्त मंत्री अरुण जेटली विदेश दौरे पर हैं.

गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. अब तक 15 उम्मीदवारों ने नामांकन किया है. नामांकन की आखिरी तारीख 28 जून है. 1 जुलाई तक नामांकन वापस लेने की तारीख है. उसके बाद 17 जुलाई को वोटिंग होगी और 20 जुलाई को नतीजे आएंगे. मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है. नव निर्वाचित राष्ट्रपति 25 जुलाई को पदभार संभालेंगे.

यह भी पढ़ें- राष्ट्रपति चुनाव पर बोले नीतीश : आम सहमति नहीं बनी, तो विपक्ष भी उतारेगा अपना उम्मीदवार