यात्रियों की भीड़ देख लगाया एक्स्ट्रा कोच, फिर मंत्री के ओएसडी को उसमें विदा कर दिया

लाइव सिटीज डेस्क : भारतीय रेलवे कब क्या करे कहना मुश्किल है. यात्रियों को लाख सुविधा देने का दावा भले ही रेलवे कर रहा हो लेकिन ख़ास मौके पर यात्रियों की सुविधाओं को ताक पर रख दिया जाता है. ताजा मामला है उत्तर रेलवे का. जहां केंद्रीय मंत्री के ओसएडी की यात्रा के लिए रेलवे ने सभी नियमों को किनारे कर दिया और दिवाली मनाकर लौट रहे लोग मुंह ताकते रह गए.

दरअसल रेलवे ने आम यात्रियों की परेशानी छोड़ एक केंद्रीय मंत्री के ओएसडी के परिवार को दिल्ली भेजने के लिए ट्रेन में एक्स्ट्रा  कोच लगवा दिया. यह सब करने में रेलवे को यह भी ध्यान नहीं रहा कि ट्रेन अपने निर्धारित समय सीमा से घंटे भर लेट हो चुकी है. इससे ट्रेन करीब एक घंटा देरी से चली और प्लैटफॉर्म तक बदल दिया गया. इस दौरान आम यात्रियों को काफी परेशानी हुई.

बता दें कि दिवाली खत्म होते ही हजारो लोग वापस लौट रहे थे. ट्रेनों में सीट नहीं थी. शनिवार 21 अक्टूबर को ट्रेनों में एक-एक सीट की मारामारी थी. वेटिंग  वालों का हुजूम तो अलग से था. इसी भीड़ में अफसर और उनके परिजनों को वीआईपी कोटे में भी जगह नहीं मिली.

शाम करीब 5.40 बजे पद्मावत एक्सप्रेस का चार्ट रिलीज हुआ. ओएसडी परिवार को उसमें भी जगह नहीं मिली. लेकिन रेलवे अफसरों ने उन्हें दिल्ली भेजने के लिए जैसे कमर कस रखी थी. रेलवे बोर्ड से यात्रियों की भीड़ के नाम पर एक्स्ट्रा कोच लगवाने का जुगाड़ किया गया. रात करीब 8:40 बजे रेलवे बोर्ड के एक सीनियर अफसर ने पद्मावत में फर्स्ट कम सेकंड एसी का कम्पोजिट कोच लगाने का आदेश दिया.

सबसे बड़ी बात यह कि तीस सीटों के कोच में सिर्फ सात लोग सवार हो कर गए. हैरानी की बात यह रही कि  ओएसडी फैमिली के किसी भी सदस्य ने इस ट्रेन का वेटिंग लिस्ट का टिकट तक नहीं खरीदा था. सबने जनरल का टिकट लिया था. टीटीई ने बीच रास्ते में उनके एसी और जनरल के किराए के अंतर की रसीद बनाई.

रेलवे बोर्ड को गुमराह करने के लिए ट्रेन के समय भी बदला गया. ट्रेन रात 10:15 बजे लखनऊ आई लेकिन कंट्रोल रूम ने नेशनल ट्रेन इंक्वायरी के सिस्टम में उसे रात 9:35 बजे आकर 9:55 बजे प्रस्थान करना दिखाया. जबकि ट्रेन रात 10:35 बजे रवाना हुई. जिसे रात 10:02 बजे आलमनगर पार करना दिखा दिया गया. जानकारी के लिए बता दें कि शनिवार को दिल्ली, मुंबई, पुणे, देहरादून, चंडीगढ़ और भोपाल की ओर जाने वाले सैकड़ों लोग परेशान हुए.