पोस्टमैन का पहले चेंज हुआ ड्रेस अब बदल जाएगा नाम भी, जानिए क्या बुलाएंगे अब

लाइव सिटीज डेस्क : बदलते समय के साथ लोग अब डाकिया की जगह पोस्टमैन ही बुलाने लगे हैं. लेकिन सरकार अब इस नाम को बदलने के मूड में है. पोस्टमैन की जगह पोस्टपर्सन के नाम से डाकियों को बुलाये जाने की तैयारी हो रही है.सूचना प्रौद्योगिकी पर संसदीय समिति ने नाम परिवर्तन के बारे में यह सुझाव दिया है. डाक विभाग ने समिति को अपने जवाब में कहा है कि पोस्टमैन को पोस्टपर्सन का नाम देने का प्रस्ताव विचाराधीन है. विभाग ने यह भी कहा है कि सामान्य रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला शब्द ‘डाकिया’ लिंग-निर्पेक्ष है. बता दें कि हाल ही में पोस्टमैन को अब नया ड्रेस भी दिया गया है.

बीजेपी सांसद अनुराग ठाकुर की अगुवाई वाली सूचना प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थायी समिति ने डाक विभाग से पोस्टमैन को पोस्टपर्सन का नाम देने की सिफारिश की है. विभाग की अनुदान मांगों पर अपनी रिपोर्ट में समिति ने डाक विभाग में लोगों तक उनकी डाक पहुंचाने वालों वालों की नामावली बनाने की जरूरत है. इसी के मद्देनजर पोस्टमैन को पोस्टपर्सन का नाम देने का सुझाव दिया गया है. यह रिपोर्ट मंगलवार को संसद में रखी गई. समिति ने कहा कि डाक विभाग में पोस्टमैन और पोस्टवुमेन दोनों काम करते हैं. ऐसे में इसे बदलने की जरूरत है. समिति ने इस बात पर सहमति दी कि डाकिया नाम लिंग की दृष्टि से निर्पेक्ष है.

प्रिया राज : आंख नहीं मारती, ब्रजेश ठाकुर को कालिख पोत देती है, पप्‍पू यादव की सुतली बम है

आपको बता दें कि सातवें केंद्रीय वेतन आयोग की अनुशंसाओं के अनुसार सालाना इसके लिए पोस्टमैन को पांच हजार रुपए वर्दी भत्ता देने का निर्णय किया है. विभाग के एएसपी सुनील राठौर ने बताया कि इसकी जेब और टोपी पर भारतीय डाक का लोगो होगा. कंधे पर लाल पट्टियां लगी होगी. यह लोगो डाक विभाग की ओर से उपलब्ध करवाया जाएगा. जुलाई महीने में इनके खातों में यह राशि जमा भी कर दी गई है.

सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उपक्रम मंत्रालय के तहत खादी ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) की ओर से देश के प्रत्येक जिले में अपने विक्रय केंद्रों से डाकियों के लिए वर्दी उपलब्ध कराने पर सहमति जताई है. उल्लेखनीय है कि 29 जनवरी को संचार मंत्री मनोज सिन्‍हा ने नई दि‍ल्ली में एमएसएमई राज्यमंत्री गिरिराज सिंह की उपस्थिति में डाकियों तथा एमटीएस के लिए नई डिजाइन की वर्दी लॉन्च की.

About Ranjeet Jha 2861 Articles
I am Ranjeet Jha (पत्रकार)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*