मंत्री खुर्शीद के बाद अब कांग्रेस की इस मुस्लिम नेत्री ने किया ‘ॐ नमः शिवाय’ का जाप

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार के अल्पसंख्यक विभाग के मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद ने जय श्री राम के जयकारे क्या लगाये उनपर फतवा जारी कर उन्हें इस्लाम से बेदखल कर दिया गया था, साथ ही उनका निकाह भी रद्द कर दिया गया. यह खबर सोशल मीडिया में आग की तरह फ़ैल गई. सभी ने इस फतवे को अजीबोगरीब बताया.

अब एक बार फिर ऐसा ही मामला सामने आया है और जिसमें एक कांग्रेस की मुस्लिम नेत्री ने  ॐ नमः शिवाय का जाप किया है. साथ ही भगवा वस्त्र धारण कर एक तस्वीर सोशल मीडिया में पोस्ट किया  है.  इस तस्वीर का शीर्षक लिखा है- ‘तो आज कर दो फतवा जारी’  studio11

कांग्रेस की मुस्लिम नेत्री नूरी खान द्वारा भगवा वस्त्र धारण कर ॐ नमः शिवाय का जाप करते हुए तस्वीर अब सोशल मीडिया में खूब वायरल है. बता दें कि अखिल भारतीय कांग्रेस सदस्य नूरी खान ने मंगलवार को भगवा वस्त्र धारण कर हिंदू धर्माचार्यों संग ‘ओम नम: शिवाय’ का जाप किया और सुख-समृद्धि की प्रार्थना की. उनके इस पूजा पाठ पर शहर काजी ने कहा है कि यह सिर्फ पॉलीटिकल स्टंट है. 

‘तो आज कर दो फतवा जारी’ शीर्षक के साथ जारी पोस्ट में खान ने लिखा कि धर्म के ठेकेदार तय नहीं करेंगे कि अच्छा हिंदू कौन या अच्छा मुसलमान कौन? नूरी खान ने कहा कि न केसरिया तेरा है न हरा मेरा है. न भगवा रंग किसी के बाप का है, न हरा रंग. मैंने भगवा रंग भाईचारे और एकता के लिए पहना है. मेरा इस्लाम मेरे पालन का विषय है.

अगर किसी अन्य धर्म के सम्मान की बात होगी तो मैं हमेशा आगे रहूंगी. मजहब बैर रखना नहीं सिखाता.ओम नम: शिवाय का जाप करने से मेरे इस्लाम को कोई खतरा नहीं है. मालूम हो कि बिहार के मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद को जय श्री राम बोलना भारी पड़ गया था. सीएम नीतीश कुमार की अगुवाई में अल्पसंख्यक समुदाय ने उनका बहिष्कार कर दिया था.

जिसके बाद सीएम नीतीश की पहल पर खुर्शीद ने माफी मांगी. काजी के घर जा कर तौबा किया और कलमा भी पढ़ा. फिर उन्हें दोबारा से इस्लाम में स्वीकार किया गया. इसी के खिलाफ कांग्रेस नेत्री नूरी खान ने यह कदम उठाया और सोशल मीडिया में यह संदेश दिया है.

इस मामले में मामले में शहर काजी खलीकुर्रेहमान ने कहा कि यात्रा का मकसद अगर हिंदू-मुस्लिम एकता है तो बहुत बढ़िया है. मगर जाप करना धर्म का विषय है. साथ जाना अलग बात है. नूरी के जाप से धार्मिकता का कोई लेना-देना नहीं. ये महज राजनीतिक स्टंट है. उनकी पोस्ट ‘तो आज कर दो फतवा जारी” उनकी नादानी है. मैं इसे अच्छा नहीं मानता. फतवे का इससे क्या लेना-देना.

यह भी पढ़ें-  जयश्री राम का नारा लगानेवाले मंत्री खुर्शीद आलम के खिलाफ फतवा जारी
मंत्री खुर्शीद पहुंचे इमारत-ए-शरिया, उलेमाओं के सामने की तौबा