मुजफ्फरपुर जंक्शन से तस्करों के चंगूल से छुड़ाए गए 7 बाल मजदूर, चाइल्ड हेल्पलाइन भेजे गए सभी

लाइव सिटीज, अभिषेक/ मुजफ्फरपुर: कोरोना काल में भी जिले से कुछ तस्कर काम का प्रलोभन देकर लगातार जिले से छोटे बच्चों को बाल मजदूरी के लिए बाहर धड़ल्ले से ले जा रहे है. मुजफ्फरपुर रेलवे जंक्शन पर 7 बाल मजदूर को तस्करों के चंगूल से आजाद काराया गया. बताया जा रहा है कि दो तस्कर जिले के हथौड़ी थाना और औराई से इन बच्चों को जयपुर ले जा रहे थे. मुक्त कराने के बाद सभी बच्चों को चाइल्ड हेल्पलाइन को सौप दिया गया. वही इस मामले में पकड़े गए दो तस्करों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर उनको जेल भेजने की तैयारी की जा रही है.

इधर पटना के बेउर थाना अंतर्गत तेज प्रताप नगर में गुरुवार को लोगों ने पांच संदिग्ध युवकों को पकड़कर पिटाई कर दी. इलाके में संदिग्ध युवकों के देखे जाने से सभी के कान खड़े हो गए. जब लोगों ने इन संदिग्धों से इलाके में आने का कारण पूछा तो ये लोग कुछ भी बता नहीं पाए. ऐसे में लोगों को शक हुआ, देखते ही देखते मौके पर काफी संख्या में लोग इकट्ठे हो गए. सभी ने मिलकर पांचों युवकों की जमकर पिटाई कर दी.

पिटाई के बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी. सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने पांचों संदिग्ध युवकों को थाने ले गयी. जहां पूछताछ के बाद सभी को जेल भेज दिया गया. पुलिस के मुताबिक इसी इलाके में पिछले माह पूर्व हुई चोरी में जेल भेजे गए दोनों का फुटेज सीसीटीवी में देखा गया था. बाकी तीन युवकों को चोरी में संलिप्तता नही होने पर छोड़ दिया गया.

पकड़े गए संदिग्धों में मसौढ़ी का जॉनी, साहिल कुमार पोस्टल पार्क का जबकि करण मनोज और रणवीर प्रताप अशोक नगर का रहने वाला बताया जाता है. पुलिस ने सभी चोरों को पकड़ने के बाद प्राथमिक उपचार के लिए फुलवारीशरीफ सीएचसी ले गई जहां उसका इलाज करने के बाद थाना लाया गया. उसके बाद दो को जेल भेज दिया गया. जबकि तीन अन्य को हिदायत देकर छोड़ दिया गया.