खगड़िया में जला डाले गए 70 से ज्यादा घर, सब तरफ राख ही राख फैली है

खगड़िया (मनीष कुमार) : पुलिस की भारी गश्त और बढ़ी हलचल के बीच खगड़िया में दबंगों का कहर बरपा है. जिले के मोरकाही थाना क्षेत्र के छमासिया बहियार में बुधवार शाम दर्जनों घरों को भूक दिया गया. आग लगा दी कई परिवारों के आशियानों को. अब गांव में हर तरफ सिर्फ राख ही राख दिखाई देता है. मलबे मेंतब्दील हो चुका है खगड़िया का छमासिया बहियार का इलाका.

अभी बुधवार को ही दिन में इंस्पेक्टर अनिल कुमार यादवेन्दु, एसआई अविनाश एवं एसआई शंभू के नेतृत्व में जिले की पुलिस ने सीआईएटी कमांडों के साथ कांबिंग आपरेशन चलाया था. माना जा रहा था कि जिला पुलिस प्रशासन की इस पहल से अपराधियों के बीच खौफ का माहौल पैदा होगा. लेकिन पुलिसिया अभियान के महज कुछ घंटों बाद ही अपराधियों ने गांव में ना सिर्फ दहशत फैला दी बल्कि दर्जनों परिवार को दाने-दाने तक के लिए भी मोहताज कर दिया.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बीती रात छमासिया के महादलित बस्ती को अपराधियों ने आग के हवाले कर दिया. बताया जाता है कि इस घटना में लगभग 70 से ज्यादा घर जलकर खाक हो गए हैं. वहीं इस दौरान दहशत फैलाने के उद्देश्य से अपराधियों ने रूक-रूक कर फायरिंग भी की. घटना की सूचना मिलते ही सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रामानंद सागर के नेतृत्व में पुलिस की टीम देर रात ही घटनास्थल की ओर कूच कर गयी थी. गुरूवार की सुबह प्रखंड विकास पदाधिकारियों एवं अंचलाधिकारी भी घटना स्थल पर पहुंच स्थिति का जायजा लेते दिखे. वहीं खौफ के साये के बीच कुछ ग्रामिणों के गांव से पलायन करने की भी सूचना मिल रही है.

दूसरी तरफ इसी क्षेत्र में मंगलवार की अहले सुबह एसटीएफ व पुलिस ने अपराधियों के साथ हुई मुठभेड़ में बिजली सदा, अभय सदा, सुमित पंडित, संतोष कुमार, तुफान चौधरी व रंजीत सदा जैसे आधा दर्जन अपराधियों को गिरफ्तार किया था. इस दौरान दोनों ओर से दर्जनों चक्र गोलियां भी चली थीं. वहीं मौके से पुलिस ने दो देसी राइफल सहित कारतूस भी बरामद किया था. हलांकि मुठभेड़ के दौरान मौका देख नक्सली मनोज सदा पुलिस को चकमा देकर भागने में सफल रहा था.

बता दें कि गिरफ्तार बिजली सदा अमौसी नरसंहार कांड का अभियुक्त है और फिलहाल वो जमानत पर था. बता दें कि छमसिया दियारा एवं सहरसा जिला के चिड़ैया ओपी बार्डर के क्षेत्र में अक्सर दो गुटों के बीच वर्चस्व को लेकर लड़ाई होती रही है. दूसरी तरफ अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस अधीक्षक मीनू कुमारी ने कहा था कि दियारा इलाके में पुलिस की ऐसी कार्रवाई चलती रहेगी. एसपी के निर्देश पर क्षेत्र में में कांबिग ऑपरेशन की शुरूआत भी की गई. बाबजूद इसके दियारा क्षेत्र में वर्चस्व की लडाई को अंजाम देकर अपराधियों ने एक बार फिर पुलिस के सामने बडी चुनौती पेश कर दी है.