बाबा साहब के संविधान को बचाने के लिए आजादी की नई लड़ाई की है जरूरत : अनिल कुमार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  जनतांत्रिक विकास पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आज देश के संविधान निर्माता सह प्रथम कानून मंत्री भारतरत्‍न डॉ बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की जयंती समारोह का आयोजन किया गया. इस दौरान पार्टी के  राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अनिल कुमार समेत तमाम लोगों ने बाबा साहब की तस्‍वीर पर पुष्‍पांजलि अर्पित कर उन्‍हें नमन किया. इस मौके पर अनिल कुमार ने कहा कि डॉ. भीमराव अम्बेडकर एक ऐसे युग पुरुष थे, जिनका जीवन देशहित को समर्पित था. सामाजिक एकता हेतु उनकी सकारात्मक सोच, राष्ट्रीय स्तर पर दूरदर्शी दृष्टिकोण और व्यक्तिगत जीवन में उनकी योग्यताएं अतुलनीय थीं. उन्‍होंने हमेशा समाज के वंचितों और शोषितों की आवाज बनकर उनके कल्याण के लिए कार्य किये.

उन्‍होंने कहा कि आज देश में और बिहार में जिस तरह की संविधान विरोधी घटनाएं हो रही हैं, जिस तरह से कुछ नकली लोग सत्ता शीर्ष पर काबिज हो गए है, आज वहीं लोग उनके संविधान से खिलवाड़ कर रहे हैं. संविधान किसी की बपौती नहीं है. कोई इसके साथ खिलवाड़ नहीं कर सकता और न हम ऐसा करने देंगे.

आगे उन्होंने कहा कि इसलिए आज हमें लगता है कि एक बार फिर से आजादी की नई लड़ाई बाबा साहब के संविधान को बचाने के लिए लड़नी होगी. जिस तरह बाबा साहब अमर हैं, उसी तरह बाबा साहब का संविधान अटल है. आज जो लोग बाबा साहब के संविधान को मानने सं इंकार कर रहे हैं, उन्‍हें संविधान मनाने के लिए प्रण लेना होगा. हमें प्रण लेना होगा कि हम धर्म और जाति के नाम पर देश को बंटने ना दें.