रामविलास पासवान के निधन से पूरे देश में शोक की लहर, राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री समेत दिग्गज नेताओं ने जताया दुख

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : रामविलास पासवान के निधन से पूरे देश में शोक की लहर है. दिल्ली से लेकर बिहार तक सबकी निगाहें नम हो गयी है. देश ने एक ऐसा राजनेता खो दिया जिसकी भारपायी संभव नहीं है. उनके निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वैकेंया नायडू, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी समेत राजनीतिक जगत के सभी बड़े दिग्गजों ने ट्वीट कर अपनी संवेदना प्रकट की है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर कहा, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन से देश ने एक दूरदर्शी नेता खो दिया है. उनकी गणना सर्वाधिक सक्रिय तथा सबसे लंबे समय तक जनसेवा करने वाले सांसदों में की जाती है. वे वंचित वर्गों की आवाज़ मुखर करने वाले तथा हाशिए के लोगों के लिए सतत संघर्षरत रहने वाले जनसेवक थे. आपातकाल विरोधी आंदोलन के दौरान जयप्रकाश नारायण जैसे दिग्गजों से लोकसेवा की सीख लेनेवाले पासवान जी फायरब्रांड समाजवादी के रूप मे उभरे. उनका जनता के साथ गहरा जुड़ाव था और वे जनहित के लिए सदा तत्पर रहे. उनके परिवार और समर्थकों के प्रति मेरी गहन शोक-संवेदना.



पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘श्री राम विलास पासवान जी ने कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प के माध्यम से राजनीति में कदम रखा. एक युवा नेता के रूप में, उन्होंने आपातकाल के दौरान अत्याचार और हमारे लोकतंत्र पर हमले का विरोध किया. वह एक उत्कृष्ट सांसद और मंत्री थे, जिन्होंने कई नीतिगत क्षेत्रों में स्थायी योगदान दिया.’ उन्होंने कहा कि राम विलास पासवान जी का निधन एक व्यक्तिगत क्षति है. मैंने एक दोस्त, मूल्यवान सहयोगी को खो दिया है, जो हर गरीब व्यक्ति को यह सुनिश्चित करने के लिए बेहद भावुक था कि वह गरिमा का जीवन जीते हैं.

गृह मंत्री अमित शाह ने रामविलास पासवान के निधन पर दुख जताते हुए ट्वीट कर लिखा की “भारतीय राजनीति व केंद्रीय मंत्रिमंडल में उनकी कमी सदैव बनी रहेगी और मोदी सरकार उनके गरीब कल्याण व बिहार के विकास के स्वपन्न को पूर्ण करने के लिए कटिबद्ध रहेगी. मैं उनके परिजनों और समर्थकों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूँ और दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना करता हूँ. ॐ शांति”

उधर कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी ने रामविलास पासवान के निधन पर दुख जताते हुए ट्वीट कर अपनी संवेदना व्यक्त की है. उन्होंने ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति के प्रार्थना की है.

वहीं राहुल गांधी ने कहा,  ‘रामविलास पासवान जी के असमय निधन का समाचार दुखद है. गरीब-दलित वर्ग ने आज अपनी एक बुलंद राजनैतिक आवाज खो दी. उनके परिवारजनों को मेरी संवेदनाएं.

अपनी शोकसंवेदना व्यक्त करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहाँ की, पासवान जी के निधन कें बारे में जानकर अत्यंत दुख हुआ. कई दशकों तक उन्होंने जनता के दिल पर राज किया. बिहार की राजनीति को बदलने वाले वो नेता थे. क़रीब 9 बार उन्होंने संसद में प्रतिनिधित्व किया. अत्यंत विनम्र, सरल और हमेशा लोगों की मदद करने के लिए वे सदा तत्पर रहते थे.

श्री पासवान जी के निधन से हमने एक महान मानवतावादी नेता को खो दिया है. महाराष्ट्र से जुड़े कई मुद्दों को लेकर हमेशा उनसे मेरी मुलाक़ात होती रही, हर बार वे बेहद सकारात्मक रूप से मिलते. गरीबों और वंचितों के उत्थान के लिए उनका संघर्ष हमेशा याद किया जाएगा. इस महान नेता को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि. मैं उनके परिवार और लाखों कार्यकर्ताओं के प्रति संवेदना प्रगट करता हूँ.

रामविलास पासवान के निधन पर केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने गहरा शोक-संवेदना प्रकट करते हुए रहा कि बिहार भारत और दलित राजनीति को इससे अपूरणीय क्षति हुई है जिसकी भरपाई निकट भविष्य में संभव नहीं है. रामविलास पासवान जी के निधन से मैंने अपना बड़ा भाई खो दिया है. उनके निधन की खबर से मैं स्तब्ध हूं, विश्वास नहीं हो रहा और जो दुख हो रहा है उसको शब्दों में व्यक्त नहीं कर पा रहा हूं. दलितों, दबे-कुचलों और गरीबों की आवाज आजीवन उठाते रहने वाले पासवान जी के निधन से आज ये सब अपने को अकेला महसूस कर रहे है.
ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें और उनके परिवार के सदस्यों को इस महान पीड़ा को सहने की शक्ति प्रधान करें.

केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने दुख जताते हुए कहा कि भारतीय राजनीति के पुरोधा एवं केंद्रीय मंत्री श्री रामविलास पासवान जी के निधन की सूचना मिली है .ऐसे सामाजिक योद्धा का देहांत भारतीय राजनीति के लिए अपूर्णीय क्षति है.महादेव उनकी आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें .