अगर नहीं है आधार कार्ड तो आप नहीं कर सकेंगे मैट्रिक पास

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार बोर्ड अपनी शिक्षा व परीक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने में लगा है. पिछले कुछ सालों से लगातार हो रही बदनामी से सबक लेते हुए बोर्ड हर कदम फूंक-फूंक कर रखना चाह रहा है. कई तरह के बदलाव किये जा रहे हैं. अब बिहार बोर्ड के चेयरमैन आनंद किशोर ने सूचना जारी करते हेउ कहा है कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की परीक्षाओं में 2019 से आधार कार्ड अनिवार्य होगा. छात्रों का रजिस्ट्रेशन के समय ही आधार नंबर लिंक कर दिया जाएगा. इस प्रक्रिया से सही छात्रों की पहचान करने में कोई दिक्कत नहीं होगी.

हालांकि वर्ष 2018 की परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन तो हो चुका है, पर परीक्षा फॉर्म भरने के वक्त छात्रों को आधार कार्ड बना लेना अनिवार्य होगा. अगर आधार कार्ड नहीं है तब एक वैकल्पिक पहचान पत्र जरूर परीक्षा फॉर्म भरते समय देना होगा.

बिहार बोर्ड के चेयरमैन ने बताया कि अब सिर्फ स्टेट टॉपर को ही नहीं बल्कि अगले उनके साथ-साथ जिला के टॉपरों को भी सम्मानित किया जाएगा. दोनों की मेधा सूची तैयार की जाएगी. मैट्रिक और इंटर की परीक्षा की रिपोर्ट हर जिले से सरकार के पास भेजी जाएगी. इसके अलावा विषयवार विश्लेषण के साथ पूरी रिपोर्ट उपलब्ध करायी जाएगी. इसकी एक-एक कॉपी जिलों में भेजी जाएगी. ताकि सभी जिले अपने रिजल्ट का विश्लेषण कर सकें. सरकार मैट्रिक और इंटर के रिजल्ट के आधार पर सभी जिलों के पढ़ाई में सुधार का फ्रेमवर्क तैयार करने का टास्क देगी.
बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने डिजिटल होने पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि बोर्ड के सभी कार्यों को 2019 तक पेपरलेश वर्क के रूप में बदलने का काम किया जाएगा.  बिहार बोर्ड में बहुत प्रक्रियाएं अभी ऑनलाइन हो चुकी हैं. बची हुई प्रक्रियाओं पर काफी तेजी से कार्य हो रहा है.

यह भी पढ़ें-  गुड न्यूज़ : यहां 1.68 लाख पदों पर मिल रही है बंपर सरकारी नौकरी