केन्द्रीय कैबिनेट से दरभंगा एम्स की मंजूरी मिलने पर झूम उठा उत्तर बिहार, पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा ने प्रधानमंत्री का जताया आभार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क :  केन्द्रीय कैबिनेट ने दरभंगा एम्स के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. मोदी सरकार के इस निर्णय से मिथिला क्षेत्र सहित सम्पूर्ण उत्तर बिहार के लोगों में प्रसन्नता की लहर दौड़ गयी है.

कैबिनेट के इस निर्णय का स्वागत करते हुए पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे व कैबिनेट के सदस्यों का आभार व्यक्त किया. उन्होंने बताया कि इसके पहले पटना एम्स के निर्माण हुआ और दरभंगा में बिहार का दूसरा एम्स बनना सम्पूर्ण मिथिला के लिए गौरवपूर्ण अवसर है.



पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा ने कहा कि दरभंगा में एम्स के निर्माण से मिथिला क्षेत्र सहित सम्पूर्ण उत्तर बिहार के लोगों को इलाज के लिए बाहर जाने की आवश्यकता खत्म हो जाएगी और सम्पूर्ण उत्तर बिहार को इसका लाभ होगा. आज मिथिलावासियों का चिर परिचित  सपना साकार हुआ है.

नीतीश मिश्रा ने बताया कि 1264 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला दरभंगा एम्स 750 बेड का होगा. दरभंगा एम्स में एमबीबीएस की 100 सीटें, बीएससी नर्सिंग की 60 सीटें निर्धारित की गई हैं. दरभंगा एम्स में 15 से 20 सुपर स्पेशलिटी डिपार्टमेंट होगा. प्रतिदिन 2000 की ओपीडी और प्रति माह 1000 आईपीडी की क्षमता होगी. यहां पीजी, डीएम आदि सुपर स्पेशलिटी कोर्स भी शुरू किए जाएंगे.

पूर्व मंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार के इस निर्णय से बड़ी संख्या में रोजगार सृजन होगा तथा आमजन मानस को बेहतर चिकित्सीय सुविधाओं का लाभ उपलब्ध हो सकेगा. उन्होंने कहा कि अगले 4 वर्षों में दरभंगा एम्स का निर्माण कार्य पूर्ण होने से इसका लाभ लोगों को मिल सकेगा.