सीएम की फटकार के बाद एक्शन में पटना पुलिस, आईजी संजय सिंह ने काम में कोताही पर पांच पुलिस वालों को किया दंडित

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में बढ़ते अपराध पर हर हाल में कंट्रोल करें पुलिस के अधिकारी. मात्र दो सप्ताह में तीन बार लॉ एंड ऑर्डर को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक कर डाली है. प्रत्येक बैठक में सीएम ने पुलिस अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए कानून का राज कायम करने का निर्देश दिया. साथ ही क्राइम पर कैसे कंट्रोल हो इसको लेकर सुझाव भी दिए.

सीएम ने पुलिस पेट्रोलिंग बढ़ाने पर जोर देते हुए आईजी और डीआईजी को रात में सड़कों पर निकलने का आदेश दिया है. ताकि नीचे के पदाधिकारी रात्री में क्या करते हैं इसका पता चल सकें. इस आदेश के बाद पटना पुलिस को दुरुस्त करने के लिए सेंट्रल रेंज के आईजी संजय सिंह  कमान संभाल ली. आईजी बीती रात पटना के शास्त्रीनगर थाने पहुंचे और यहां घंटों बैठक कर केस रिव्यू किया.



आईजी ने शास्त्री नगर थाने में 350 मामलों की समीक्षा की. इस दौरान चार्ज नहीं देने के आरोप में 5 आईओ के वेतन रोकने का आदेश दिया.मुस्तैदी के साथ कार्य न करने वाले पांच पुलिसकर्मियों के वेतन रोकने के आदेश भी आईजी ने दिए हैं. साथ ही साथ थाने में बैठकर 350 मामलों की समीक्षा बैठक भी की.

उधर सुपौल जिले में भी अपराधियों पर नकेल कसने को लेकर एसपी ने एक अनोखी पहल की है. पुलिस की साइकिल टीम गठित की गयी है. पुलिसकर्मी टॉर्च और रिवाल्वर लेकर साइकिल से रातों में गली-गली गश्ती करेंगे. ऐसे में बिल में छिपे अपराधियों पर नकेल कसा जाएगा.