खत्म नहीं होंगी कृषि मंडियां, पीएम मोदी ने कहा -एमएसपी पर लोग फैला रहे झूठ

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि बिल को किसानों के लिए नई आजादी करार देते हुए कहा कि नए कृषि सुधारों ने देश के हर किसान को आजादी दे दी है कि वे जहां चाहें अपनी फसल, अपने फल-सब्जियां बेच सकते हैं. नए किसान कानूनों से न तो कृषि मंडियां खत्म होंगी और न ही एमएसपी पर कोई प्रभाव पड़ेगा. कुछ लोग एमएसपी को लेकर झूठ फैला रहे हैं जिससे किसानों को सावधान रहना होगा. .

प्रधानमंत्री ने सोमवार को बिहार को करीब 14 हजार करोड़ रुपये की सौगात देने के मौके पर वीडियो कांफ्रेंसिंग में किसान बिल का जिक्र करते हुए कहा कि यह कानून कृषि मंडियों के खिलाफ नहीं हैं. एनडीए सरकार ने देश की कृषि मंडियों को आधुनिक बनाने के लिए निरंतर काम किया है. कृषि मंडियों के कार्यालयों का कंप्यूटराइजेशन कराने के लिए पिछले 5-6 साल से देश में बहुत बड़ा अभियान चल रहा है.



उन्होंने आक्षेप किया कि कृषि क्षेत्र में बदलावों के बाद कुछ लोगों को अपने हाथ से नियंत्रण जाता हुआ दिखाई दे रहा है. इसलिए वे लोग एमएसपी पर किसानों को गुमराह करने में जुटे हैं. इन लोगों ने सालों  तक एमएसपी पर स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों को अपने पैरों की नीचे दबा कर रखा था.

पीएम ने कहा कि विगत 5 साल में जितनी सरकारी खरीद हुई है और 2014 से पहले के 5 साल में जितनी सरकारी खरीद हुई है, उसके आंकड़े इसकी गवाही देते हैं कि कृषि क्षेत्र में सुधार आया है. अगर दलहन और तिलहन की बात करें तो पहले की तुलना में, दलहन और तिलहन की सरकारी खरीद करीब 24 गुना अधिक की गई है.