बोले कांग्रेस MP अखिलेश सिंह : CM नीतीश समाजवादी नेता, BJP के साथ नहीं रहेंगे ज्यादा दिन

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार के सीएम नीतीश कुमार की विपक्ष से तारीफ़ हो रही है. यह तारीफ़ भले ही राजद से नहीं की गई हो, लेकिन कांग्रेस से जरूर की गई है. कांग्रेस सांसद अखिलेश सिंह ने सीएम नीतीश कुमार की तारीफ की है. उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार एक समाजवादी नेता हैं. वे ज्यादा दिन भाजपा के साथ नहीं रहेंगे. अखिलेश सिंह ने असम नागरिकता विधेयक पर सीएम नीतीश कुमार के स्टैंड को सराहते हुए उन्हें साधुवाद भी दिया.

कांग्रेस सांसद अखिलेश सिंह ने इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को साधुवाद का पात्र बताया है और कहा है कि मुख्यमंत्री सह जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर इस बिल पर जो निर्णय लिया है, वह काबिलेतारीफ है. अखिलेश सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार एक समाजवादी नेता हैं और ज्यादा दिन भाजपा के साथ नहीं रह सकते हैं. उन्होंने कहा कि इस बिल पर अपनी राय से नीतीश कुमार ने यह स्पष्ट संकेत दे दिया है कि वे असम नागरिकता (संशोधन) विधेयक का विरोध करेंगे.

जदयू ने स्पष्ट किया है कि असम नागरिकता विधेयक का जदयू पुरजोर विरोध करेगा. मुख्यमंत्री एवं जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार इस मोर्चे पर भाजपा के खिलाफ मुखर होंगे. इस संबंध में वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इसी सप्ताह पत्र लिखने जा रहे हैं. वहीं, उनकी पार्टी जदयू इस विधेयक का संसद में विरोध करेगी.

नीतीश कुमार चुनाव प्रचार करने जाएंगे जोकीहाट, 28 मई को है उपचुनाव की वोटिंग

यह बिल 2016 में संसद में पेश हुआ है जिसे संयुक्त संसदीय कमेटी (जेपीसी) को सौंपा गया है. 7 मई से 10 मई के दौरान जेपीसी ने असम और मेघालय का दौरा किया. इसके बाद से असम एवं मेघालय में बिल को लेकर आंदोलन तेज हुआ है. यह बिल 25 मार्च, 1971 की कट ऑफ डेट के बाद भी बंगलादेश से आने वाले हिन्दुओं को भारत की नागरिकता प्रदान करने के उद्देश्य से लाया गया है. असम एवं मेघालय, दोनों राज्यों में यह लागू होगा. असम में भाजपा की सहयोगी असम गण परिषद के अलावा कांग्रेस और एआइयूडीएफ इसका विरोध कर रही हैं, जबकि मेघालय कैबिनेट ने प्रस्ताव पारित कर अपना विरोध दर्ज कराया है.

ब्रेकिंग न्यूज वीडियो : #चिरागपासवान ने भी कर दिया #शादी का एलान, #तेजस्वीयादव से पहले करेंगे #विवाह ….

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*