अरूणाचल प्रदेश में जेडीयू के सभी 6 विधायक बीजेपी में शामिल, सीएम नीतीश ने तो कह दिया…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  बिहार में जेडीयू की सहयोगी पार्टी बीजेपी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जोर का झटका दिया है. यह झटका बीजेपी ने अरुणाचल प्रदेश में दिया है. जेडीयू के छह विधायकों को बीजेपी ने अपनी पार्टी में शामिल करा लिया है. उनके सात में से छह विधायक शुक्रवार को बीजेपी में शामिल हो गए. अब अरुणाचल प्रदेश में जेडीयू के पास केवल एक विधायक रह गए. हालांकि वहां सरकार बीजेपी की है, जबकि जेडीयू को विपक्ष का दर्जा मिला हुआ था.

अरूणाचल प्रदेश के राजनीतिक घटनाक्रम पर जब पत्रकारों ने सीएम नीतीश ने पूछा तो उन्होंने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है. दो दिन बाद राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक है उसमें इस बिन्दु पर विस्तार से चर्चा किया जाएगा. हालांकि जेडीयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश में जेडीयू को तोड़े बिना भी बीजेपी की सरकार सहजता से चल रही थी. जेडीयू वहां रचनात्मक विपक्ष के रूप में था. उन्होंने बीजेपी के कदम को गैरदोस्ताना बताया. कहा कि यह गलत हुआ है.



खास बात कि बीजेपी ने अरुणाचल प्रदेश में जेडीयू के छह विधायकों को उस वक्त तोड़ा है, जब पटना में दो दिन बाद यानी 26,27 दिसंबर को राष्ट्रीय कार्यसमिति और राष्ट्रीय परिषद की बैठक होनी है. अरुणाचल के विधायकों को पटना में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय परिषद की बैठक में शामिल होना था.

बताया जाता है कि जेडीयू विधायकों ने तलेम ताबोह को अपना नेता चुना और अरुणाचल प्रदेश के बीजेपी अध्यक्ष को पत्र लिखा कि वे पार्टी में शामिल होना चाहते हैं. बता दें कि इसी वर्ष 26 नवंबर को सिंयोग्जू खरमा और टाकू को पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था.

एक सदस्य पर सिमटी जेडीयू

जेडीयू ने अरुणाचल प्रदेश में 2019 के विधानसभा चुनाव में 15 सीटों पर चुनाव लड़ा था. इनमें से सात पर उसे विजय मिली थी. जबकि, बीजेपी को 41 सीटें आय थीं. बीजेपी के बाद जेडीयू ही अरुणाचल में सबसे बड़ी पार्टी थी. लेकिन वहां गठबंधन नहीं था. वहां कुल 60 सीटें हैं. इस तरह, अब विधानसभा में बीजेपी के पास 48 मेंबर हो गए. और जेडीयू घटकर एक पर आ गया. इस घटना को लेकर बिहार में भी सियासत तेज है. जबकि विपक्ष चुटकी ले रहा है.

मीटिंग के पहले पहुंचाई चोट

सियासी गलियारे में हो रही चर्चा के अनुसार, बीजेपी ने जेडीयू को मीटिंग के पहले बड़ी चोट पहुंचाई है. दरअसल, शनिवार और रविवार को पटना में जेडीयू के देशभर के नेताओं की बैठक होने वाली है. लेकिन शुक्रवार को ही बीजेपी ने यह झटका दे दिया. इन विधायकों को भी पटना आना था. बता दें कि अरुणाचल प्रदेश विधानसभा में जेडीयू दूसरी सबसे बड़ी पार्टी थी. आज शामिल हुए छह विधायकों में से तीन पर विरोधी गतिविधियों के कारण पहले ही कार्रवाई की जा चुकी है. हालांकि विधायक दल के नेता अभी भी जेडीयू के साथ हैं.