‘मोदी सरकार के सभी फैसले बिलकुल सही, बेरोजगारी को बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया गया’

लाइव सिटीज डेस्क : नीति आयोग केंद्र सरकार के बचाव में सामने आ गया है. नीति आयोग ने कहा की केंद्र सरकार ने जितने भी फैसले लिए हैं वह सब सही है. आयोग के अध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा है कि जीएसटी, दिवालियापन संहिता और बेनामी कानून सहित अन्यी सुधारों को एकजुट करने का समय आ गया है. ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि मोदी सरकार ने पिछले 42 महीनों में कदम उठाए हैं, जो वो बि‍लकुल सही हैं. साथ ही नीति आयोग ने यह भी साफ किया कि रोजगार की कमी को बढ़ा-चढ़ा कर पेश कि‍या गया है.

उन्होंने कहा कि‍ अगले 18 महीनों में सरकार को नई पहल करते हुए स्वास्थ्य और शिक्षा क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए, क्योंमकि‍ यह दोनों विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं. जब उनसे पूछा गया कि क्या मोदी सरकार लोकसभा चुनाव से पहले अपने अंतिम नियमित बजट को फरवरी में पेश करेगी, तो उन्हों ने कहा कि‍ सरकार जो कर रही है वह देश के लिए सही है, न कि चुनावों की नजर से. उन्हों ने कहा कि रोजगार के अवसरों की कमी को लेकर बढ़ा चढ़ा कर बातें की जा रही हैं, जो सच नहीं हैं.

नीति आयोग के अध्यक्ष राजीव कुमार (फाइल फोटो)

वहीं, रोजगार नहीं पैदा कर पाने पर हो रही सरकार की आलोचना पर उन्होंने कहा कि‍ रोजगार के अवसरों में काफी वृद्धि हुई है. हालांकि यह संगठित और औपचारिक क्षेत्र में नहीं हो सके हैं. “ईपीएफओ के खातों की संख्या बढ़ गई है, राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) खातों की संख्या में वृद्धि हुई है वहीं, सेवा क्षेत्र में कर्मचारियों की संख्या में तो विशेष रूप से बढ़ोतरी है, खासकर पर्यटन, नागरिक उड्डयन, परिवहन और सेवा क्षेत्र में. ऐसे में मुझे लगता है कि‍ रोजगार की कमी को बढ़ा चढ़ा कर पेश कि‍या गया है. नोटबंदी और जीएसटी की मार झेल चुके तो अब एक और बैन के लिए रहिए तैयार !

एक इंटरव्यू  में राजीव कुमार ने कहा कि‍ आप जानते हैं मोदी सरकार ने 42 महीनों में बहुत कुछ किया है. सरकार ने बहुत ही महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं. ऐसे में मेरा मानना है कि‍ अब समय आ गया है जब यह सुनिश्चित कि‍या जाए कि‍ इन कदमों से क्या सुधार हुए हैं और इससे देश को क्याच फायदा हुआ है.