बिहार के विकास को नई गति देगा आमस-दरभंगा ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे- मंगल पांडेय

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : केंद्र एवं राज्य सरकार के समन्वित प्रयास से गया जिले के जीटी रोड से प्रस्तावित ईस्ट-वेस्ट कोरिडोर को कनेक्ट करने वाले आमस-दरभंगा ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे बिहार के विकास को नयी गति देगा. यह सड़क सात जिलों से होकर गुजरेगी तथा इसके निर्माण पर 7500 करोड़ रुपये की लागत आएगी. 212 किलोमीटर लंबी यह सड़क फोर लेन की होगी. इस ग्रीन फील्ड पथ के लिए संबंधित सात जिलों के 233 राजस्व गांवों में 1382 हेक्टर भूमि अधिग्रहण की कार्रवाई शुरू की गई है. विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा स्वयं भूमि अधिग्रहण मामले की खुद मॉनिटरिंग करते हैं. भूमि अधिग्रहण के लिए किसानों को भुगतेय राशि की स्वीकृति दे दी गई है. किसानों को फरवरी 2021 से क्षतिपूर्ति का भुगतान मिलने लगेगा.

इस परियोजना के निर्माण कार्य में अत्यधिक तेजी लाने का निर्देश दिया गया है. भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के क्षेत्रीय पदाधिकारी से परियोजना के टेंडर की प्रकिया शीघ्र करने के लिए अग्रिम तैयारी तेज करने को कहा है. राज्य सरकार की एजेंसियों को भी विशेष तत्परता बरतने को कहा है.



विभाग के मंत्री ने गुजरने वाले एलाइन्मेंट की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि इस परियोजना का एलाईन्मेंट आमस, मथुरापुर, गुरारू, पंचानपुर, बेला, इब्राहिमपुर, ओकरी, पभेरा, रामनगर, सबलपुर, चकसिकन्दर, दभैच, बहुआरा, शाहपुर बधुनी (ताजपुर), शिवनन्दनपुर (बूढ़ी गंडक), बासुदेवपुर, रामनगर (लहेरियासराय), बेला नवादा (दरभंगा) के पास से गुजरेगा.इस परियोजना के निर्माण कार्य में अत्यधिक तेजी लाने का निर्देश दिया है. उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के क्षेत्रीय पदाधिकारी से परियोजना की निविदा प्रक्रिया शीघ्र करने हेतु अग्रिम तैयारी करने व भू-अर्जन से संबंधित राज्य सरकार की एजेन्सियों को इस महत्वाकांक्षी परियोजना में अत्यधिक विशेष तत्परता बरतने की अपेक्षा की है.