सीएम नीतीश की डिनर पार्टी में पहुंचे अमित शाह, साथ में हैं सुशील मोदी समेत 11 नेता

लाइव सिटीज डेस्क : बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह डिनर के लिए सीएम हाउस पहुंच चुके हैं. यहां वे नीतीश कुमार के साथ रात का खाना खाएंगे. माना जा रहा है कि डिनर पर सीट शेयरिंग को लेकर चर्चा की जाएगी. मिशन 2019 में एनडीए के घटक दलों को कितनी सीटें मिलेंगी इस पर भी मंथन किया जा सकता है.  इस डिनर पार्टी में अमित शाह और नीतीश कुमार के अलावा बीजेपी के 7 और जदयू के 4 नेता भी पहुंचे हैं. ऐसी चर्चा है कि इस डिनर डिप्लोमेसी में  अमित शाह नीतीश कुमार को सीट शेयरिंग पर साधने में सफल रहेंगे. और बीच का रास्ता निकालने में सफल रहेंगे.

बीजेपी के नेताओं में डिप्टी सीएम सुशील मोदी, मंत्री नंदकिशोर यादव, मंत्री प्रेम कुमार, बीजेपी के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव, मंत्री मंगल पांडेय, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, बीजेपी के महामंत्री नागेंद्र जी डिनर पार्टी में शामिल हैं. वहीं जदयू के 4 नेताओं में सांसद आरसीपी सिंह, बिजेंद्र यादव, मंत्री ललन सिंह, राज्यसभा सांसद और बिहार जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह मौजूद हैं.

स्टेट गेस्ट हाउस में हुई नीतीश-शाह की मुलाकात, 40 मिनट की मीटिंग में कुछ नहीं बोले सीएम

आपको बता दें कि आज गुरुवार की सुबह अमित शाह एयरपोर्ट स्थित स्टेट हैंगर से सीधे स्टेट गेस्ट हाउस पहुंचे. गेस्ट हाउस में अमित शाह जदयू अध्यक्ष व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिले. इस दौरान भाजपा नेता व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी मौजूद रहे. अमित शाह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ नाश्ता किया. लगभग 40 मिनट की मुलाकात के बाद नीतीश कुमार ने मीडिया से बात करने से परहेज किया. नीतीश कुमार और अमित शाह दोनों ने ही सीट शेयरिंग को लेकर कुछ नहीं कहा.

एयरपोर्ट पर अमित शाह का भव्य स्वागत

एयरपोर्ट पर बिहार के उपमुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने अगवानी की. वहीं, बड़ी संख्या में पार्टी के अन्य नेता और कार्यकर्ता भी मौजूद थे. कार्यकर्ताओं ने एयरपोर्ट पर अमित शाह का भव्य स्वागत किया. अब गेस्‍ट हाउस से ज्ञान भवन जाएंगे अमित शाह. यहां ज्ञान भवन में पार्टी के आइटी सेल की बैठक को करेंगे संबोधित. ज्ञान भवन से बापू सभागार तक तीन अलग अलग बैठक को संबोधित करेंगे अमित शाह.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*