अमित शाह का राष्ट्रपिता पर प्रहार, कहा- बहुत चतुर बनिया था गांधी

amit-shah12
amit-shah12

लाइव सिटीज डेस्क : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह एक बार फिर अपने विवादित बयान से चर्चा में हैं. शाह छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में हैं जहां उन्होंने कार्यकर्ताओं को विधानसभा चुनाव में 65 सीटें जीतने का लक्ष्य दिया है. शाह ने वहां अपने भाषण के दौरान कांग्रेस पर बोलते-बोलते राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर ही विवादित कमेंट कर डाला. 

शाह ने महात्मा गांधी को ‘चतुर बनिया’ बताते हुए कहा कि कांग्रेस किसी एक विचारधारा के आधार पर या किसी सिद्धांत विशेष का दल नहीं है बल्कि वो आजादी हासिल करने का विशेष जरिया था. इसलिए महात्मा गांधी दूरदर्शी होने  के साथ, बहुत चतुर बनिया था वो, उसको मालूम था आगे क्या होने वाला है.

इसलिए उसने आजादी के बाद तुरंत कहा था, कांग्रेस को बिखेर देना चाहिए। महात्मा गांधी ने नहीं किया, लेकिन अब कुछ लोग उसको बिखेरने का काम समाप्त कर रहे हैं. इसलिए ही कहा था महात्मा गांधी ने क्योंकि कांग्रेस की कोई आइडोलॉजी नहीं थी. देश चलाने के, सरकार चलाने के, कोई सिद्धांत नहीं थे. 

अमित शाह  ने जब बोलना शुरू किया तो एक के बाद एक कड़े शब्द निकालते चले गए.  शाह ने कहा कि विचारों में स्पष्टता के चलते हम मुद्दों दृढ़ता से खड़े रहे. वो (कांग्रेस) सोचती है कि कोई यह कहेगा, कोई वह कहेगा लेकिन हमें कोई भ्रम नहीं है. कोई क्या सोचेगा लेकिन हम लोगों के लिए साफ है कि जो देशद्रोही नारे लगाएगा वो देशद्रोही कहलाया जाएगा.

अमित शाह ने कहा कि देश में 1650 राजनीतिक पार्टियां हैं जिनमें से केवल बीजेपी और सीपीआई (एम) का आंतरिक लोकतंत्र है. उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि कांग्रेस में अगर सोनिया गांधी अध्यक्ष पद छोड़ती हैं तो राहुल गांधी को वह जगह दी जाएगी लेकिन कोई नहीं जानता कि भाजपा का अगला अध्यक्ष कौन होगा.

यह भी पढ़ें-  बदलने की कोशिश में अमित शाह, धमकी नहीं देते हंसी मजाक भी कर रहे हैं