अंबानी ने अपनी कंपनी से 48600 लोगों को निकाला नौकरी से, अब बच गए सिर्फ 3400 स्टाफ

लाइव सिटीज डेस्क : अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन के बुरे दिन चल रहे हैं. इसका सीधा असर इस कंपनी में काम करने वाले हजारों कर्मचारियों पर पड़ा. रिलायंस कम्युनिकेशन ने करीब 48600 कर्मचारियो को नौकरी से निकाल दिया है. अब इस कंपनी में काम करने के लिए सिर्फ 3,400 कर्मचारी ही बचे हैं. आपको बता दें कि कंपनी में कुल 52,000 कर्मचारी थे जिनमें से अब 94 फीसदी कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया.

आपको बता दें कि रिलायंस जियो, ऐयरटेल, आइडिया और वोडाफोन जैसी बड़ी कंपनियों में प्राइस वार छिड़ा हुआ है. ये कंपनियां लगातार अपने यूजर्स के लिए सस्ते और बेहतरीन प्लान पेश कर रही हैं. इस तरह कंपनियों के इस प्राइस वॉर से लोगों को तो फायदा हो रहा है, लेकिन इस प्राइस वॉर के चक्कर में एयरसेल और रिलायंस कम्यूनिकेशन जैसी कंपनियों को मोबाइल नेटवर्क के मार्केट से अपने हाथ खींचने पड़े.

इस मामले में आरकॉम ने कहा, “एयरटेल, आइडिया, वोडाफोन और क्षेत्र में आयी नई कंपनी रिलायंस जियो के बीच शुल्क में कटौती की होड़ से वायरलेस क्षेत्र में वित्तीय लेखाजोखा प्रभावित हुआ है. अब जब 18 जनवरी को आरकॉम बी2सी (बिजनस टू कंज्यूमर) सेवा से बाहर हो गई है, ऐसे में कंपनी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा.” एक समय रिलांयस के 12 करोड़ ग्राहक थे, लेकिन अब आरकॉम के पास दुनियाभर में सिर्फ 35,300 बीटूबी ग्राहक है, जिसमें से कंपनी के सबमरीन केबल ग्राहक भी शामिल है. कंपनी के सबमरीन केबल के पूरे विश्व में कुल ग्राहक 300 ग्राहक हैं.

मुकेश अंबानी साल के अंत तक कर सकते हैं बड़ा धमाका, लॉन्च कर सकते हैं jio ब्रॉडबैंड सर्विस

कंपनी का वायरलेस ऑपरेशनल बिजनेस हायपर कॉम्पटीशन, बड़ी जरूरतों और वित्तीय तनाव से पूरी तरह से बदल गया है. एयरटेल, वोडाफोन, आइडिया और रिलायंस जियो के सस्ते प्लान्स के वॉर में वायरलेस सेक्टर की सभी महत्वपूर्ण फाइनेंशियल मेट्रिक को डाउन कर दिया है। ट्राई द्वारा जारी की गई एक नई रिपोर्ट में साफ है कि वायरलेस बिजनेस बड़ी तेजी से नीचे जा रहा है. इसमें सालान 21% राजस्व की गिरावट देखी जा रही है.

About Ranjeet Jha 2861 Articles
I am Ranjeet Jha (पत्रकार)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*