लोकसभा चुनाव 2019: आज हो सकता है तारीखों का एलान, EC की शाम 5 बजे प्रेस कांफ्रेंस

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : दिल्ली से एक बड़ी खबर आ रही है. लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान आज हो सकता है. चुनाव आयोग ने शाम 5 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है. विज्ञान भवन में होने वाले इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा संबोधित कर सकते हैं. बता दें, पिछले लोकसभा चुनाव की तारीखों का एलान भी रविवार को ही किया गया था. चुनाव आयोग ने सख्त हिदायत दिया है कि कोई भी पार्टी सेना और सैन्य अभियानों की तस्वीरें चुनावी अभियान में इस्तेमाल नहीं करेंगे.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक चुनाव 7-8 चरणों में संपन्न हो सकते हैं और पिछली बार की तरह पहले चरण का चुनाव 10 अप्रैल हो सकता है. कयास लगाए जा रहे हैं कि उत्तर प्रदेश में 7-8 चरणों में, बिहार और पश्चिम बंगाल में 5-6 चरणों में चुनाव हो सकते हैं. लोकसभा चुनावों के साथ ही कुछ विधानसभा चुनावों का ऐलान भी हो सकता है.

पिछली बार की ही तरह अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, आंध्र प्रदेश और उड़ीसा के विधानसभा चुनाव भी हो सकते हैं. जम्मू-कश्मीर के विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान भी चुनाव आयोग कर सकता है. राजदीप सरदेसाई के मुताबिक जम्मू कश्मीर विधानसभा के चुनाव 15 मई के बाद कराए जा सकते हैं. जून-जुलाई में भी ये तारीखें पड़ सकती हैं लेकिन अाम चुनाव हर हाल में 15 मई तक संपन्न होने हैं.

2004, 2009 और 2014 में कब-कब हुआ चुनाव

इससे पहले पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने ट्विटर पर एक आंकड़ा शेयर किया है. इस आंकड़े के मुताबिक, 2004 में अधिसूचना 29 फरवरी, 2009 में अधिसूचना 2 मार्च और 2014 में 5 मार्च को अधिसूचना जारी हुई थी. ऐसे में देखा जाए तो इस बार चुनाव आयोग की अधिसूचना में देरी है.

डॉ. एस. वाई. कुरैशी के आंकड़े के मुताबिक, 2004 में 1 जून, 2009 में 30 मई, 2014 में 3 जून को लोकसभा का कार्यकाल खत्म हुआ था. इस बार 2 जून को लोकसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा है. 2004 में चुनाव 20 अप्रैल से लेकर 10 मई के बीच 4 चरणों में, 2009 में 16 अप्रैल से लेकर 13 मई के बीच पांच चरणों में और 2014 में 7 अप्रैल से लेकर 12 मई के बीच नौ चरणों में चुनाव संपन्न हुआ था.

राजनीतिक पार्टियों को निर्वाचन आयोग की सख्त हिदायत

सेना और सैन्य अभियानों की तस्वीरें चुनावी अभियान में इस्तेमाल न की जाएं. चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक पार्टियों को यह सलाह दी है. चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक दलों से कहा है कि वे अपने चुनाव अभियान में सैनिकों और सैन्य अभियानों की तस्वीरों का इस्तेमाल करने से बचें.

चुनाव आयोग ने शनिवार को 2013 में जारी परामर्श का हवाला देते हुए सभी राजनीतिक दलों के प्रमुखों से अपने पार्टी प्रतिनिधियों और उम्मीदवारों से इसका सख्ती से पालन सुनिश्चित करने को कहा. आयोग ने एक राजनीतिक दल के पोस्टर में वायु सेना विंग कमांडर अभिनंदन की तस्वीर के कथित इस्तेमाल पर संज्ञान लेते हुए राजनीतिक दलों को ऐसा करने से बचने का परामर्श दिया है.

उल्लेखनीय है कि आयोग ने दिसंबर 2013 में रक्षा मंत्रालय की शिकायत पर यह परामर्श जारी किया था. इसमें मंत्रालय ने विभिन्न राजनीतिक दलों के उम्मीदवारों द्वारा चुनाव अभियान में सैन्यकर्मियों की तस्वीर का इस्तेमाल करने पर चुनाव आयोग का ध्यान आकर्षित करते हुए इसे रोकने के लिए उपयुक्त निर्देश जारी करने का अनुरोध किया था.

कांग्रेस ने लगाए आरोप

लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान में हो रही देरी पर कांग्रेस सवाल उठा चुकी है. कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने आरोप लगाया था कि क्या चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के आधिकारिक कार्यक्रमों के पूरा होने का इंतजार कर रहा है.

About Md. Saheb Ali 4655 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*