किसी भी वक्‍त रेड संभव है, तैयार रहें पटना के बिल्‍डर्स

पटना :  बड़े साहब मतलब मुख्‍य मंत्री नीतीश कुमार का आर्डर बहुत क्लियर है . तैयार रहना होगा पटना समेत बिहार भर के बिल्‍डर्स को . साथ में होटेलियर्स भी संभल जाएं . फायर सेफ्टी जांचने को अब किसी भी वक्‍त रेड किया जा सकेगा . तैयारी शुरु की जा चुकी है . बिल्‍डरों द्वारा तैयार हाई राइज बिल्डिंग में रहने वाले लोग फायर सेफ्टी को लेकर सशंकित हैं,तो वे कंप्‍लेन भी कर सकेंगे . जांच के लिए टीमें तैयार की जा रही है . studio11

मंडे को चीफ मिनिस्‍टर नीतीश कुमार ने फायर की घटनाओं पर अधिकारियों की स्‍पेशल क्‍लास ली है . इसके तुरंत बाद ही सभी तैयारियां शुरु हो गई . नीतीश कुमार पटना के बोरिंग रोड में स्थित जीवी मॉल में शनिवार को लगी भयंकर आग को लेकर चिंतित थे . खैर मनाइए,कोई जान नहीं गई . वजह कि कामर्शियल बिल्डिंग थी और रात को लोग इसमें रहते नहीं थे . वरना ठीक पीछे इंडियन ऑयल का पेट्रोल पंप था . 

सरकार को फिक्र इस बात की है कि आग ने पेट्रोल पंप को भी चपेट में ले लिया होता तो फिर क्‍या होता . इस कारण,घनी आबादी वाले इलाकों में पेट्रोल पंपों की पालिसी को भी लेकर सरकार ने विचार शुरु कर दिया है . पहले से पेट्रोल पंप हैं,तो आसपास हाई राइज बिल्डिंग के निर्माण को लेकर सरकार बिल्डिंग बाइलॉज में नये नियम व शर्तें जोड़ सकती हैं . कायदे से बिल्डिंग बाइलॉज के अनुसार ही नये निर्माण को मंजूरी मिलती है .

हाई राइज बिल्डिंग के निर्माण में पहले फायर सेफ्टी के बाबत क्लियरेंस लेना होता है . पर,इसमें बिहार में बड़ा खेल है . सरकार को पता चला है कि कुछ साल पहले रिटायर हुए इस विभाग के बड़े अफसर ने कई पुश्‍तों को खुश रखने तक के लिए अपने कार्यकाल में बहुत बड़ा खेला कर लिया था . इस कारण भी पटना के अधिकांश हाई राइज बिल्डिंग में फायर सेफ्टी की व्‍यवस्‍था बस कहने मात्र को है . 

सरकार अब नये सिरे से बिल्‍डरों-होटेलियरों व अन्‍य को जिम्‍मेवार बनाना चाहती है . पहले यह कहा जाएगा कि आप सेल्‍फ अटेस्‍टेड शपथ पत्र दाखिल करें कि फायर सेफ्टी की सारी व्‍यवस्‍था मुकम्‍मल है . मतलब,जिम्‍मेवार बनाया जाएगा . फिर,शपथ-पत्र में किए गए दावों की जांच संबंधित कैंपस में जाकर की जाएगी . साथ में,कंप्‍लेन मिलने पर तुरंत रेड होगी .

जीवी मॉल में लगी आग की रिपोर्ट भी तुरंत सौंपने का निर्देश है . इससे यह पता चलेगा कि मॉल में फायर सेफ्टी की क्‍या व्‍यवस्‍था थी . मॉल मालिक के खिलाफ पुलिस में प्राथमिकी पहले दर्ज कराई जा चुकी है . रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की दिशा तय होगी.

यह भी पढ़ें-  GV Mall की आग अब बहुतों को लपेटे में लेने को है तैयार