राज्‍यपाल की सुरक्षा संभालेंगे, अभी चला रहे हैं शराबबंदी ऑपरेशन

पटना : बेहद एक्टिव रहने वाले पटना के एडिशनल एसपी राकेश दूबे को सरकार ने और भी जिम्‍मेवारी सौंपी है . फिर से बिहार के राज्‍यपाल रामनाथ कोविंद की सिक्‍यूरिटी में एडीसी के तौर पर लगाये गये हैं . हालांकि अभी मिला प्रभार अतिरिक्‍त है . 

राकेश दूबे पहले भी राज्‍यपाल रामनाथ कोविंद के साथ थे . उन्‍हें राज्‍यपाल का फेवरिट आफिसर माना जाता है . 2015 में बिहार विधान सभा चुनाव के बाद जब जदयू-राजद-कांग्रेस महागठबंधन की सरकार बिहार में बन रही थी,तब भी राकेश दूबे राज्‍यपाल के साथ ही थे . गांधी मैदान में आयोजित विशाल शपथ ग्रहण समारोह में राज्‍यपाल के एडीसी के रुप में वे साक्षी थे .

दरअसल,राज्‍यपाल को दो एडीसी प्राप्‍त होते हैं . एक मिलिट्री का होता है और दूसरा पुलिस का . अभी राज्‍यपाल के साथ मिलिट्री के एडीसी नहीं हैं . उनके आने तक राकेश दूबे को ही जिम्‍मा संभालना होगा . पटना जिला पुलिस में भी इनके जिम्‍मे अभी बड़ा टास्‍क है . 

राकेश दूबे को पटना में शराबबंदी को सफल बनाने को नोडल आफिसर बनाया गया है . पिछले महीने ही दूबे को यह चार्ज मिला था . तब के बाद से वे लगातार आपरेशन चला रहे हैं . रोज बड़ी जब्‍ती हो रही है . हरियाणा और पंजाब से बिहार में शराब ठेलने वालों की पहचान की गई है . मनु महाराज ने दूसरे प्रदेशों में आपरेशन के लिए तैयारी भी शुरु कर रखी है .

बीएसएससी घोटाले की जांच के लिए बनी एसआईटी में भी राकेश दूबे को शामिल रखा गया है . इस मामले में बोर्ड के चेयरमैन और सीनियर आईएएस सुधीर कुमार समेत कई लोग जेल भेजे जा चुके हैं . बताया जाता है कि पटना पुलिस की एसआईटी ने साइंटीफिक तरीके से जांच कर सबूत इकट्ठे किए हैं,जिसमें राकेश दूबे ने सीबीआई के सेवाकाल के अपने पुराने दिनों के अनुभव का भी प्रयोग किया है .

यह भी पढ़ें-  NSG के रंग में रंग गए DIG शालीन, देखिये-जानिए
जोनल IG का एक्शन: छात्रा को दबोचने वाला दारोगा सस्पेंड
शराबबंदी पर DIG राजेश कुमार का एक्शन, 3 पुलिसकर्मियों को किया बर्खास्त