ध्यान दें ! मैट्रिक के परीक्षार्थी-अभिभावक, कोई लूट न ले आपको

पटना : बिहार बोर्ड के बारहवीं के नतीजे आपने देखे. कितना हंगामा बरपा है, वह भी देख रहे हैं. इंटर आर्ट्स के टॉपर गणेश का रिजल्ट रद कर दिया गया है. गिरफ्तारी हो गई है. अगले हफ्ते किसी भी दिन बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड मैट्रिक परीक्षा के नतीजों का ऐलान करेगा. दिन 1-2 दिन बढ़ भी सकते हैं. मैट्रिक की परीक्षाओं में बारहवीं की परीक्षा से अधिक छात्र शामिल हुए हैं. मानसिक रूप से तैयार रहिये, रिजल्ट का प्रतिशत गिर सकता है. वजह कि परीक्षा के दौरान सख्ती थी.

लेकिन लाइव सिटीज अभी दूसरे कारणों से मैट्रिक के सभी परीक्षार्थियों और उनके अभिभावकों को सतर्क कर रहा है. दरअसल, जैसे ही बारहवीं के नतीजे खराब हुए, बिहार भर में कई गिरोह एक्टिव हो गए हैं. ये गिरोह नतीजे में फेल छात्र को पास कराने का ठेका ले रहा है. बैंक के अकाउंट नंबर दिए जा रहे हैं, जिसमें पैसे जमा करने को कहा जा रहा है.

कई ऑडियो सबूत मौजूद

लाइव सिटीज को लगातार ऐसे ऑडियो रिकॉर्ड प्राप्त हो रहे हैं, जिसमें लेन-देन की बातें सुनी जा सकती है. सभी ऑडियो में मोडेस अप्रेडी एक ही है. पहले इस तरीके से पूछताछ की जाती है, मानों कॉल रिसीव कर अहसान किया जा रहा है. फिर परीक्षार्थी का नाम पूछा जाता है. जानने के बाद कुछ घंटे में फोन करने को कहा जाता है. इस कॉल में परीक्षार्थी को फेल बताकर राशि की मांग की जाती है. काम की गारंटी दी जाती है, लेकिन मुलाक़ात संभव नहीं है. बताया गया अकाउंट में पैसा जमा करने को कहा जाता है.

लाइव सिटीज की टीम के पास अभी ऐसे दो ऑडियो मौजूद हैं. पहले ऑडियो में कोई काली राम नाम का व्यक्ति फेल को पास कराने का ठेका ले रहा है. वह स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के अकाउंट नंबर 36693557352 में पैसा जमा कराने को कहता है. जांच में यह अकाउंट स्टेट बैंक के नवादा के एक ब्रांच में काली राम के नाम से ही खुला पाया गया. यह अकाउंट जन-धन खाते के तहत खोला गया था. बहुत धनराशि जमा नहीं है, पर झोल दीखता है.

आज लाइव सिटीज को दूसरा ऑडियो भी मिला. इसमें ठग परेशान अभिभावक को बता रहा है कि परीक्षार्थी सोशल साइंस में फेल है. लेकिन पास करा देंगे, गारंटी है. डिमांड 3200 से शुरु होती है और 2500 तक आती है. पैसा जमा कराने को किसी रौशन कुमार का अकाउंट नंबर दिया जाता है. यह भी स्टेट बैंक का अकाउंट है, जो बोकारो का बताया जा रहा है. अकाउंट का नंबर 20415566997 है.

लेकिन पूरी जांच के बाद लाइव सिटीज की स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम आप सबों को सतर्क कर रही है. यह बिलकुल जालसाजी है. तैयार रिजल्ट में कोई हेर-फेर संभव नहीं है. सिर्फ मूल्यांकन का काम कलम से एग्जामिनर करते हैं, आगे सबकुछ कंप्यूटर से होता है. बाहर की एजेंसी है, वहां बोर्ड का स्टाफ कोई हेर-फेर अब करा पायेगा, यह मुमकिन नहीं है. मतलब कोई सेटिंग नहीं हो सकती. हां, जाल में फंसेंगे, तो आप जरूर लुट जायेंगे. सो, रिजल्ट के लिए रहिये तैयार, जो होना था, वह हो चुका है.

इसे भी पढ़ें –
फर्जी गणेश का काला सच : उम्र-42 साल, 2 बच्चों का बाप, चिटफंड कंपनी का पुराना स्टाफ
देखें वीडियो : SSP मनु महाराज ने फर्जी टॉपर गणेश से की पूछताछ, कई चौंकाने वाले खुलासे