पटना/अमित जायसवाल: रविवार को बिहार पुलिस के लिए सिपाही बहाली का एग्जाम था. इसके लिए पटना में भी कई जगहों पर सेंटर्स बनाए गए थे. एग्जाम दो पालियों में थी. कुछ शातिर इस एग्जाम में भी धांधली करने की कोशिश में लगे हुए थे. कोई अपनी पहचान बदलकर दूसरे की जगह एग्जाम दे रहा था तो कुछ कैंडिडेंट्स नकल करने की कोशिशों में जुटे हुए थे. लेकिन पटना में बनाए गए सभी एग्जाम सेंटर्स पर टाइट सिक्योरिटी के इंतजाम किए गए थे. यही वजह है कि दूसरे के नाम पर एग्जाम दे रहे और नकल करने के मामले में 6 कैंडिडेट्स् को गिरफ्तार किया गया है.

यह कार्रवाई पटना के दो सेंटर पर हुई. गर्ल्स हाई स्कूल शास्त्री नगर में पवन नाम के एक शातिर को पकड़ा गया. आरोप है कि पवन ने अपनी पहचान बदल ली थी. ये शातिर दूसरे कैंडिडेट के नाम पर एग्जाम दे रहा था. इसकी चालाकी को सेंटर सुप्रिटेंडेंट ने पकड़ा. अच्छी तरह से खंगालने के बाद जब पवन की असलियत सामने आई तो फिर उसे शास्त्री नगर थाना की पुलिस के हवाले कर दिया गया.

इसके बाद एक साथ 5 शातिर कैंडिडेट्स को कॉलेज आॅफ कॉमर्स से पकड़ा गया. इन सभी के उपर एग्जामिनेशन रूम के अंदर नकल करने का आरोप है. इन सभी को पत्रकार नगर थाना की पुलिस के हवाले कर दिया गया है. पकड़े गए सभी कैंडिडेट्स के खिलाफ शास्त्रीनगर और पत्रकार नगर थाना में एफआईआर दर्ज की गई है. इन्हें जेल भेजा जाएगा.

आपको बता दें कि सिपाही के 11 हजार 880 पदों के लिए करीब 13 लाख कैंडिडेंट्स फॉर्म भरा था. इस एग्जाम के लिए करीब 550 सेंटर राजधानी सहित पूरे बिहार में बनाए गए थे.

ये भी पढ़ें : बिहार पुलिस लिखित परीक्षा के दौरान कैमूर जिले से पांच गिरफ्तार

ये भी पढ़ें : सिपाही परीक्षा: कान में ब्लूट्रथ लगाकर युवक कर रहा था चोरी, पुलिस ने किया गिरफ्तार